गोरखपुर में सिरफिरे आशिक ने घर में घुस लड़की को चाकू से गोदा

Gorakhpur Mei Bhi Ragini Jaise Ghatana Sirfire Ashiq Ne Ladki Ko Chaku Se Goda

गोरखपुर। प्रदेश में कानून व्यवस्था की बदहाली का आलम ये है कि बेखौफ अपराधी खुलेआम अपने मंसूबों को अंजाम दे कानून की धज्जियां उड़ा रहें हैं। महिला सुरक्षा का दावा करने वाली योगी सरकार चौतरफा फेल होती दिख रही है। यूपी में महिलाओं की दुर्दशा अब किसी से छुपी नहीं है। आए दिन ऐसे ऐसे मामले सामने आ रहें है जिसे देख कोई भी अपने परिवार को महफूज नहीं मान सकता। ज्ञात हो कि अभी बलिया में हुए रागिनी हत्याकांड का मामला गरमाया हुआ है, इसी बीच सीएम योगी के गृह जनपद गोरखपुर में भी बलिया जैसा ही जघन्य हत्याकांड दोहारने की कोशिश हुई।

दरअसल, योगी के गढ़ गोरखपुर के चिलुवाताल थाना क्षेत्र के बरगदवा गांव से एक ऐसी घटना सामने आई है जो काफी हद तक रागिनी हत्याकांड की तरह कही जा सकती है। मिली जानकारी के मुताबिक यहां एक सरफिरे आशिक ने एक युवती का गला चाक़ू से रेत दिया। यहां सावरजीत चौहान की 18 वर्षीया पुत्री प्रेमलता घर पर बैठी अपनी मां के साथ बैठी बात क्र रही थी कि तभी रोहित चौहान नाम का युवक वहां पहुंचा। रोहित ने प्रेमलता का हाथ पकड़ कर उस पर चाकू से वार किया। रोहित ने प्रेमलता के हाथ और गले पर वार ताबड़-तोड़ वार कर दिया। यह घटना उस वक़्त घटी है जब सीएम योगी अभी तीन दिवसीय दौरे पर अपने गृह जनपद में है।

आस-पड़ोस के लोगों ने बताया कि भौराबारी कैम्पियरगंज के रहने वाले बहादुर चौहान का बेटा रोहित चौहान। अपने ननिहाल पचपेड़वा थाना गोरखनाथ इलाके में अपने बड़े भाई अनूप चौहान के साथ रह रहा था। वह बीते 15 दिनों से राजेन्द्रनगर स्थित एक पैथोलॉजी में काम सीखने जा रहा था। वह बरगदवा गांव के रहने वाले रिश्तेदार भरतलाल लाल चौहान और अपने मित्र रोहित निषाद से मिलने आता-जाता था। इस दौरान उसकी मुलाकर प्रेमलता से हुई। वह प्रेमलता से एकतरफा इश्क करने लगा था, जिसकी भनक प्रेमलता के घरवालों को लग गई थी और वह उसके वहां आने-जाने का विरोध करने लगे थे। आज भी वह प्रेमलता से मिलने पहुंचा था।

जैसे ही घरवालों ने उसके वहां आने पर आपत्ति जताई तो हाथापाई शुरू हो गई। इसी बीच आशिक लड़की के गर्दन पर चाकू लगा घरवालों को धमकी देना शुरू कर दिया। जिसके बाद उसने पहले लड़की पर वार किया फिर खुद की गले पर भी चाकू चला ली। जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस घटना की जांच पड़ताल में जुटी है। प्रेमलता और रोहित को को इलाज के लिए बीआरडी मेडिकल कालेज भेजा गया है, जहां दोनों की हालत नाजुक बनी हुई है। पुलिस ने मौके से वारदात में इस्तेमाल हुए चाकू को बरामद कर लिया है।

गोरखपुर। प्रदेश में कानून व्यवस्था की बदहाली का आलम ये है कि बेखौफ अपराधी खुलेआम अपने मंसूबों को अंजाम दे कानून की धज्जियां उड़ा रहें हैं। महिला सुरक्षा का दावा करने वाली योगी सरकार चौतरफा फेल होती दिख रही है। यूपी में महिलाओं की दुर्दशा अब किसी से छुपी नहीं है। आए दिन ऐसे ऐसे मामले सामने आ रहें है जिसे देख कोई भी अपने परिवार को महफूज नहीं मान सकता। ज्ञात हो कि अभी बलिया में हुए रागिनी हत्याकांड…