गोरखपुर के मुसलमान बोले- मसीहा हैं योगी आदित्यनाथ, मुख्यमंत्री बनने पर जताई खुशी

गोरखपुर| यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर भले ही एंटी मुस्लिम होने के आरोप लगते रहे हों लेकिन गोरखपुर के मुसलमान योगी आदित्यनाथ को मसीहा मानते हैं| यही कारण है कि गोरखनाथ मंदिर परिसर तथा आस पास के मुस्लिम दुकानदारों में योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री बनाए जाने को लेकर बेहद खुशी है|




गोरखनाथ मंदिर परिसर में पिछले 25 वर्षों से अपनी दुकान लगा रखे मुल्ला जी चूडी वाले, मुस्तखीन विशाता, हजरत अली, इम्तियाज अली, अमन तुल्ला और मुस्ताक अहमद ने बताया कि वह पिछले 20 से 25 वर्षों से वे लोग चूडी, सिन्दूर और विशाते के समानों की दुकाने लगाये हुए हैं लेकिन उन्हें कभी किसी ने परेशान नहीं किया, बल्कि कभी कोई परेशानी आई हो तो योगी आदित्यनाथ ने उनकी सहायता की|

अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल के मंत्री अफजल अहमद, मानवाधिकार समिति के गोरखपुर जिला अध्यक्ष मोहम्मद रजी और मोतवल्ली वक्फ दरगाह के सैयद सालार और मोहम्मद इस्लाम हासमी ने भी योगी को मुख्यमंत्री बनाये जाने पर गंगा जमुनी तहजीब को और भी मजबूती मिलने की उम्मीद जतायी है और इसके लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बधाई दी|




यहां के कई मुसलामानों ने बताया कि वो अपने निजी काम को लेकर अक़्सर योगी आदित्यनाथ के पास जाते हैं और योगी जी न सिर्फ़ उनकी बात सुनते हैं बल्कि उनके काम भी कराते हैं| क़रीब सत्तर साल के एक बुज़ुर्ग चौधरी नज़मुद्दीन कहते हैं, “हमारे यहां वो वोट मांगने या वैसे भी कभी आते नहीं हैं, लेकिन पड़ोसी के नाते जानते और पहचानते सभी को हैं| हमें देखते ही हाल-चाल पूछते हैं|”