1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. गोरखपुर पुलिस ने 1 लाख के इनामी बदमाश को मुठभेड़ में किया ढेर, लड़की की हत्या का था आरोप

गोरखपुर पुलिस ने 1 लाख के इनामी बदमाश को मुठभेड़ में किया ढेर, लड़की की हत्या का था आरोप

गोरखपुर पुलिस (Gorakhpur Police) ने 1 लाख के इनामी बदमाश विजय प्रजापति (Vijay Prajapati) को मुठभेड़ में ढेर कर दिया है। आरोप है कि विजय ने काजल पर फायरिंग की थी, जो अपने पिता को बचाने की कोशिश कर रही थी। बता दें कि काजल के पिता को बदमाश पीट रहे थे, उसी दौरान काजल बदमाशों का वीडियो बना रही थी। तभी उसके गांव के बदमाश विजय प्रजापति ने पेट में गोली मार दी। काजल की मौत इलाज के दौरान केजीएमयू लखनऊ (KGMU Lucknow) में हो गई थी।

By संतोष सिंह 
Updated Date

गोरखपुर। गोरखपुर पुलिस (Gorakhpur Police) ने 1 लाख के इनामी बदमाश विजय प्रजापति (Vijay Prajapati) को मुठभेड़ में ढेर कर दिया है। आरोप है कि विजय ने काजल पर फायरिंग की थी, जो अपने पिता को बचाने की कोशिश कर रही थी। बता दें कि काजल के पिता को बदमाश पीट रहे थे, उसी दौरान काजल बदमाशों का वीडियो बना रही थी। तभी उसके गांव के बदमाश विजय प्रजापति ने पेट में गोली मार दी। काजल की मौत इलाज के दौरान केजीएमयू लखनऊ (KGMU Lucknow) में हो गई थी।

पढ़ें :- गोरखपुर पुलिस के हत्थे चढ़े चार शातिर बदमाश,बिहार से यूपी आ कर करते थे बड़ी वारदात

यह मामला गोरखपुर (Gorakhpur) के गगहा थाना (Gagaha police station ) क्षेत्र के ग्राम जगदीशपुर भलुवान का था। यहां राजीव नयन सिंह (Rajeev Nayan Singh) की उन्हीं के गांव के निवासी और शातिर बदमाश विजय प्रजापति (Vijay Prajapati)  ने अपने साथियों के साथ पिटाई कर रहा था। जब राजीव नयन की बेटी काजल ने मोबाइल से इसका वीडियो बनाया तो बदमाश विजय ने काजल को गोली मार दी थी। इलाज के दौरान काजल की मौत हो गई थी। बता दें ​कि रुपए को लेकर था विवाद रुपये के लेन-देन को लेकर राजीव नयन सिंह (Rajeev Nayan Singh) और विजय प्रजापति में विवाद था। इस घटना के दिन बदमाश राजीव के साथ मारपीट कर रहे थे। तभी 10वीं में पढ़ने वाली काजल मारपीट का वीडियो बनाने लगी। विजय ने काजल को गोली मार दी और मोबाइल छीनकर फरार हो गया।

केजीएमयू (KGMU) के डॉक्टर काजल के पेट से गोली निकालने की मशक्कत करते रहे थे। उसके पेट में गोली फंसी होने की वजह से उसकी हालत दिन पर दिन बिगड़ रही थी। इस दौरान खून भी काफी बह गया था। डॉक्टर ने ऑपरेशन कर गोली निकालने की कोशिश की, लेकिन ऑपरेशन सफल नहीं हो पाया था। पांच दिनों के बाद काजल की मौत हो गई। इसके बाद उसके शव को जगदीशपुर भलुवान लाकर पुलिस ने शांति पूर्ण तरीके से काजल का अंतिम संस्कार बड़हलगंज मुक्तिपथ पर कराया था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...