1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Gorakhpur Temple Attack : महाराजगंज से दो संदिग्धों को UP ATS ने उठाया, मुर्तजा 11 अप्रैल तक पुलिस कस्टडी में

Gorakhpur Temple Attack : महाराजगंज से दो संदिग्धों को UP ATS ने उठाया, मुर्तजा 11 अप्रैल तक पुलिस कस्टडी में

Gorakhpur Temple Attack: गोरखनाथ मंदिर परिसर के हमलावर अहमद मुर्तजा अब्बासी की जांच जैसे-जैसे आगे बढ़ रही है। वैसे-वैसे कई चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं। यूपी एटीएस की जांच में पता चला है कि मुर्तजा ने सिद्धार्थनगर के अलीगढ़वा बॉर्डर से नेपाल में प्रवेश किया था। नेपाल से वापस आने के बाद अलीगढ़वा में ही वह हथियार खरीदा था, जिससे गोरखनाथ मंदिर में सुरक्षाकर्मियों पर उसने हमला किया था। इसके साथ ही एटीएस की टीम ने महाराजगंज से दो संदिग्धों को भी हिरासत में लिया है और उनसे पूछताछ की जा रही है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Gorakhpur Temple Attack: गोरखनाथ मंदिर परिसर के हमलावर अहमद मुर्तजा अब्बासी की जांच जैसे-जैसे आगे बढ़ रही है। वैसे-वैसे कई चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं। यूपी एटीएस की जांच में पता चला है कि मुर्तजा ने सिद्धार्थनगर के अलीगढ़वा बॉर्डर से नेपाल में प्रवेश किया था। नेपाल से वापस आने के बाद अलीगढ़वा में ही वह हथियार खरीदा था, जिससे गोरखनाथ मंदिर में सुरक्षाकर्मियों पर उसने हमला किया था। इसके साथ ही एटीएस की टीम ने महाराजगंज से दो संदिग्धों को भी हिरासत में लिया है और उनसे पूछताछ की जा रही है।

पढ़ें :- जनता की जेब खाली लेकिन कुछ लोगों के हाथों में देश की पूंजी का सिमटना घातक, बजट सत्र से पहले मायावती ने साधा निशाना

फॉरेंसिक एक्सपर्ट (Forensic Experts) मुर्तजा के लैपटॉप और मोबाइल को रिकवर करने में जुटे हुए हैं। उसके लैपटॉप में सारा डाटा डिलीट था। अब सुरक्षा एजेंसियों की कोशिश है कि उसे रिकवर कर जल्द से जल्द इस पूरे घटनाक्रम को खोला जाए। सुरक्षा एजेंसियां इस एंगल पर भी काम कर रही हैं कि गोरखनाथ मंदिर पर तैनात सुरक्षाकर्मियों पर हुआ हमला लोन वुल्फ अटैक था या फिर इसके पीछे कोई बड़ी गहरी साजिश थी। मुर्तजा के साथ और कौन-कौन लोग हैं? इसको भी जांच एजेंसिया खंगाल रही हैं। अभी तक जो बातें सामने आ रही हैं, उसके अनुसार मुर्तजा जाकिर नाईक के वीडियो देखा करता था और उससे प्रेरित नजर आ रहा है।

 कोर्ट ने सात दिन के लिए मुर्तजा को कस्टडी में देने का आदेश दिया

विवेचक के मुताबिक, आरोपी के कई जगहों से संबंध सामने आ रहे हैं। इसलिए तमाम तथ्यों को परखने के लिए उसे 14 दिन के लिए पुलिस की कस्टडी रिमांड में मांगा गया था। पुलिस की इस अर्जी पर कोर्ट ने सात दिन के लिए मुर्तजा को कस्टडी में देने का आदेश दिया है।

वह 4 अप्रैल की शाम 8 बजे से 11 अप्रैल की दोपहर 2 बजे तक पुलिस की कस्टडी में रहेगा। इसके साथ पुलिस की पूछताछ के रास्‍ते खुल गए हैं। वहीं, हमले को लेकर कई राज खुलने की उम्‍मीद है, क्‍योंकि यूपी के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार और एसीएस होम अवनीश अवस्‍थी पहले की कह चुके हैं कि यह आतंकी हमला हो सकता है। इसके साथ दोनों ने इसके पीछे बड़ी साजिश होने की भी संभावना जताई है।

पढ़ें :- Delhi News: सीएम केजरीवाल को जान से मारने की धमकी, पुलिस के पास देर रात आया कॉल

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...