सरकार कानून-व्यवस्था के मामलों में कोई समझौता नहीं करती : योगी आदित्यनाथ

cm yogi
कोरोना की चेन तोड़ने के लिए योगी सरकार की बड़ी पहल, घर-घर होगी कोरोना की स्क्रीनिंग

लखनऊ। कोरोना संकट के बीच यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कानून व्यवस्था से कोई समझौता नहीं करना चाहते हैं। टीम—11 के साथ सीएम ने सोमवार लोकभवन में समीक्षा बैठक की। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि कानून व्यवस्था से कोई समझौता नहीं किया जा सकता। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सरकार अपराध तथा अपराधी के प्रति जीरो टॉलरेंस नीति पर कायम है और कायम रहेगी।

Government Does Not Compromise On Law And Order Matters Yogi Adityanath :

सरकार कानून-व्यवस्था के मामलों में कोई समझौता नहीं करती है। सरकारी की अपराध एवं भ्रष्टाचार के प्रति प्रदेश सरकार की जीरो टॉलरेंस नीति है। किसी भी आपराधिक घटना के घटित होने पर प्राथमिक स्तर पर प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। सीएम ने कहा कि पुलिस प्रदेश में हर जगह पेट्रोलिंग के कार्य को और सघन करे। हर जगह पर औचक ही अवैध असलहों के विरुद्ध अभियान चलाया जाए।

इसके साथ ही प्रदेश में पॉस्को एक्ट के तहत कार्रवाईयों में तेजी लाई जाए। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति बैठक में बैंकों की सुरक्षा व्यवस्था के सम्बन्ध में विशेष रूप समीक्षा करते हुए यह भी सुनिश्चित कराया जाए कि सभी बैंक सुरक्षा संबंधी मानकों का प्रत्येक दशा में पालन करें। इसके साथ ही सीएम ने कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमण पर नियंत्रण करने के लिए इससे बचाव जरूरी है।

प्राथमिक एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, थाना, ब्लॉक, तहसील, कलेक्ट्रेट, सरकारी राशन की दुकान सहित ऐसे सभी स्थान जहां लोगों का आना-जाना हो, वहां कोविड-19 से सुरक्षा एवं बचाव के सम्बन्ध में होॄडग तथा पोस्टर लगाया जाए। इसके साथ ही टेलीविजन तथा रेडियो आदि माध्यम से भी आमजन को इस सम्बन्ध में जागरूक करना जरूरी है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अस्पतालों में पीपीई किट, एन-95 मास्क, ग्लव्स, सैनिटाइजर आदि की सुचारु व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। पीएसी वाहिनी अथवा जैसे स्थान, जहां सामूहिक रूप से लोगों को रहना पड़ता है, वहां दो गज की दूरी के नियम का अनिवार्य रूप से पालन सुनिश्चित किया जाए।

लखनऊ। कोरोना संकट के बीच यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कानून व्यवस्था से कोई समझौता नहीं करना चाहते हैं। टीम—11 के साथ सीएम ने सोमवार लोकभवन में समीक्षा बैठक की। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि कानून व्यवस्था से कोई समझौता नहीं किया जा सकता। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सरकार अपराध तथा अपराधी के प्रति जीरो टॉलरेंस नीति पर कायम है और कायम रहेगी। सरकार कानून-व्यवस्था के मामलों में कोई समझौता नहीं करती है। सरकारी की अपराध एवं भ्रष्टाचार के प्रति प्रदेश सरकार की जीरो टॉलरेंस नीति है। किसी भी आपराधिक घटना के घटित होने पर प्राथमिक स्तर पर प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। सीएम ने कहा कि पुलिस प्रदेश में हर जगह पेट्रोलिंग के कार्य को और सघन करे। हर जगह पर औचक ही अवैध असलहों के विरुद्ध अभियान चलाया जाए। इसके साथ ही प्रदेश में पॉस्को एक्ट के तहत कार्रवाईयों में तेजी लाई जाए। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति बैठक में बैंकों की सुरक्षा व्यवस्था के सम्बन्ध में विशेष रूप समीक्षा करते हुए यह भी सुनिश्चित कराया जाए कि सभी बैंक सुरक्षा संबंधी मानकों का प्रत्येक दशा में पालन करें। इसके साथ ही सीएम ने कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमण पर नियंत्रण करने के लिए इससे बचाव जरूरी है। प्राथमिक एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, थाना, ब्लॉक, तहसील, कलेक्ट्रेट, सरकारी राशन की दुकान सहित ऐसे सभी स्थान जहां लोगों का आना-जाना हो, वहां कोविड-19 से सुरक्षा एवं बचाव के सम्बन्ध में होॄडग तथा पोस्टर लगाया जाए। इसके साथ ही टेलीविजन तथा रेडियो आदि माध्यम से भी आमजन को इस सम्बन्ध में जागरूक करना जरूरी है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अस्पतालों में पीपीई किट, एन-95 मास्क, ग्लव्स, सैनिटाइजर आदि की सुचारु व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। पीएसी वाहिनी अथवा जैसे स्थान, जहां सामूहिक रूप से लोगों को रहना पड़ता है, वहां दो गज की दूरी के नियम का अनिवार्य रूप से पालन सुनिश्चित किया जाए।