1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. 26/11 मुंबई हमला: आतंकी डेविड हेडली को भारत लाने की तैयारी में मोदी सरकार

26/11 मुंबई हमला: आतंकी डेविड हेडली को भारत लाने की तैयारी में मोदी सरकार

By रवि तिवारी 
Updated Date

नई दिल्ली। 26/11 के मुंबई आतंकी हमले में वांछित डेविड कोलमैन हेडली के प्रत्यर्पण के लिए सरकार कोशिश में जुटी हुई है। विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह ने बुधवार को लोकसभा में बताया कि हेडली के प्रत्यर्पण के लिए सरकार जुटी हुई है। वीके सिंह ने कहा कि सरकार अमेरिकी एजेंसियों से प्रत्यर्पण को लेकर संपर्क में है। भारत और अमेरिका के बीच 1997 में हुई प्रत्यर्पण संधि के तहत हेडली को भारत लाने के प्रयास किए जा रहे हैं।

इसके साथ मुंबई हमले के अन्य आरोपियों के प्रत्यर्पण के लिए भी बातचीत जारी है। विदेश राज्य मंत्री ने बताया कि 13 से 15 दिसंबर के बीच इसी सिलसिले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की एक टीम हेडली के प्रत्यर्पण पर बातचीत के लिए अमेरिका गई थी। पाकिस्तानी मूल के अमेरिकी डेविड पर मुंबई में 26 नवंबर, 2008 को हुए आतंकी हमले की साजिश रचने का आरोप है। इस हमले में 166 लोगों की मौत हो गई थी। मृतकों में 10 देशों के 28 विदेशी नागरिक भी शामिल थे।

35 वर्ष की सजा सुनाई गई है

मुंबई हमले में शामिल होने के जुर्म में हेडली को अमेरिका में 35 साल की कैद की सजा सुनाई गई है। उसे इस मामले में गवाह भी बनाया गया है। सिंह ने कहा कि अमेरिका ने अपने अंतरराष्ट्रीय साझीदारों के साथ मिलकर दोषियों की पहचान करने और उन्हें सजा दिलाने को लेकर प्रतिबद्धता जताई है।

2018 में पांच अपराधियों का हुआ प्रत्यर्पण

वर्ष 2018 में भारत पांच अपराधियों का प्रत्यार्पण कराने में सफल रहा। इनमें मोहम्मद फारुक यासीन मंसूर उर्फ फारुक टकला, विनय मित्तल व क्रिश्चियन मिशेल शामिल हैं। फारुक टकला को अमेरिका ने निर्वासित कर दिया था। आठ मार्च 2018 को उसे भारत लाया गया। धोखाधड़ी और आपराधिक षड्यंत्र में शामिल विनय मित्तल को इंडोनेशिया से भारत लाया गया। अगस्ता वेस्टलैंड चॉपर सौदा के बिचौलिए क्रिश्चयन मिशेल को संयुक्त अरब अमीरात से 4 दिसंबर 2018 को भारत लाया गया है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...