भारत सरकार ने घोषित ​किया ओमान के सुल्तान के निधन पर एक दिन का राष्ट्रीय शोक

Oman Sultan
भारत सरकार ने घोषित ​किया ओमान के सुल्तान के निधन पर एक दिन का राष्ट्रीय शोक

नई दिल्ली। ओमान के सुल्तान काबूस सईद के निधन पर भारत सरकार ने एक दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित किया है। सोेमवार को भारत में राष्ट्रीय शोक रखा जाएगा और इस दौरान भारत के राष्ट्रीय ध्वज आधे झुके रहेंगे साथ ही इस दौरान कोई भी आधिकारिक कार्यक्रम नहीं किया जाएगा।

Government Of India Declared One Day National Mourning Over The Demise Of Sultan Of Oman :

आपको बता दें कि शनिवार को लंबी बीमारी के चलते ओमान के सुल्तान काबूस बिन सईद का निधन हो गया। ओमान भारत के मित्र देशों में शामिल है जिसको लेकर भारत में राष्ट्रीय शोक घोषित किया गया है। भारतीय विदेश मंत्रालय ने एक दिन के राष्ट्रीय शोक का ऐलान किया है। वहीं पीएम नरेंद्र मोदी ने शनिवार को ओमान के सुल्तान काबूस बिन सईद के निधन पर गहरा शोक जताया था साथ ही सुल्तान काबूस बिन सईद को क्षेत्रीय शांति का प्रतीक बताया था।

प्रधानमंत्री ने ट्वीट करते हुए कहा, महामहिम सुल्तान काबूस बिन सईद अल सईद के निधन के बारे में जानकर मुझे गहरा दुख हुआ है। वह एक दूरदर्शी नेता थे, जिन्होंने ओमान को एक आधुनिक और समृद्ध राष्ट्र में बदल दिया। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सुल्तान काबूस भारत के सच्चे दोस्त थे और उन्होंने भारत तथा ओमान के बीच साझेदारी को मजबूत बनाने में सशक्त भूमिका निभाई।

आपको बता दें कि अब सुल्तान काबूस के चचेरे भाई हैसम बिन तारिक ने देश के नए शाह के रूप में शपथ ली है। सुल्तान काबूस का जन्म 18 नवंबर 1940 को सलालाह में हुआ था, वह अल बू सईद वंश के वंशज थे। उनके बारे मे बताया जाता है कि उनकी पढ़ाई भारत और सैंडहर्स्ट की रॉयल मिलिट्री एकेडमी में हुई थी। सईद ने 1970 में अपने पिता सईद बिन तैमूर का तख्तापलट करके सत्ता अपने हाथो में ले ली थी। पांच साल के शासन में ही सईद ने ओमान को गरीबी मुक्त कर दिया और वहां विकास रफ्तार तेज कर दी। सईद ने तेल के भंडारों के जरिए खाड़ी में अपना अलग मुकाम बनाया।

नई दिल्ली। ओमान के सुल्तान काबूस सईद के निधन पर भारत सरकार ने एक दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित किया है। सोेमवार को भारत में राष्ट्रीय शोक रखा जाएगा और इस दौरान भारत के राष्ट्रीय ध्वज आधे झुके रहेंगे साथ ही इस दौरान कोई भी आधिकारिक कार्यक्रम नहीं किया जाएगा। आपको बता दें कि शनिवार को लंबी बीमारी के चलते ओमान के सुल्तान काबूस बिन सईद का निधन हो गया। ओमान भारत के मित्र देशों में शामिल है जिसको लेकर भारत में राष्ट्रीय शोक घोषित किया गया है। भारतीय विदेश मंत्रालय ने एक दिन के राष्ट्रीय शोक का ऐलान किया है। वहीं पीएम नरेंद्र मोदी ने शनिवार को ओमान के सुल्तान काबूस बिन सईद के निधन पर गहरा शोक जताया था साथ ही सुल्तान काबूस बिन सईद को क्षेत्रीय शांति का प्रतीक बताया था। प्रधानमंत्री ने ट्वीट करते हुए कहा, महामहिम सुल्तान काबूस बिन सईद अल सईद के निधन के बारे में जानकर मुझे गहरा दुख हुआ है। वह एक दूरदर्शी नेता थे, जिन्होंने ओमान को एक आधुनिक और समृद्ध राष्ट्र में बदल दिया। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सुल्तान काबूस भारत के सच्चे दोस्त थे और उन्होंने भारत तथा ओमान के बीच साझेदारी को मजबूत बनाने में सशक्त भूमिका निभाई। आपको बता दें कि अब सुल्तान काबूस के चचेरे भाई हैसम बिन तारिक ने देश के नए शाह के रूप में शपथ ली है। सुल्तान काबूस का जन्म 18 नवंबर 1940 को सलालाह में हुआ था, वह अल बू सईद वंश के वंशज थे। उनके बारे मे बताया जाता है कि उनकी पढ़ाई भारत और सैंडहर्स्ट की रॉयल मिलिट्री एकेडमी में हुई थी। सईद ने 1970 में अपने पिता सईद बिन तैमूर का तख्तापलट करके सत्ता अपने हाथो में ले ली थी। पांच साल के शासन में ही सईद ने ओमान को गरीबी मुक्त कर दिया और वहां विकास रफ्तार तेज कर दी। सईद ने तेल के भंडारों के जरिए खाड़ी में अपना अलग मुकाम बनाया।