सरकार का टीवी चैनलों को नया फरमान, शोज के टाइटल भारतीय भाषाओं में दिखाना अनिवार्य

prakash javdekar
सरकार का टीवी चैनलों को नया फरमान, शोज के टाइटल भारतीय भाषाओं में दिखाना अनिवार्य

नई दिल्ली। अब केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने टीवी चैनलों को नया फरमान जारी किया है। इसके तहतभारतीय भाषाओं का प्रचार और प्रसार आसान हो जाएगा। दरअसल सरकार ने फरमान सुनाया है कि अब सभी चैनलों को शोज के टाइटल भारतीय भाषाओं में भी दिखाना अनिवार्य होगा।

Government Ordered Tv Channels Need To Show Titles In Indian Languages %e2%80%8b%e2%80%8bmandatory :

केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इसकी जानकारी देते हुए कहा “टीवी चैनल कोई भी सीरियल दिखाएं, उस सीरियल की शुरूआत और अंत में कई बार इन शोज़ का टाइटल सिर्फ इंग्लिश में देखने को मिलता है। अब भारतीय भाषाओं के प्रचार—प्रसार के लिए ये फैसला लिया गया है कि अब सभी टीवी चैनल इन शोज़ के टाइटल को भारतीय भाषाओं में ही दिखाएं।”

आग उन्होने कहा कि “भारतीय भाषाओं के साथ ही साथ अगर टीवी चैनल इंग्लिश में भी क्रेडिट देना चाहते हैं तो वे ऐसा करने के लिए स्वतंत्र हैं। उन्होने कहा कि हम किसी के उपर कोई भी पाबंदी नहीं लगा रहे हैं, बल्कि भारतीय भाषाओं को बढ़ावा दे रहे हैं। उन्होने कहा कि हम ऐसे ही आदेश सिनेमा के लिए भी लागू करने जा रहे हैं।”

नई दिल्ली। अब केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने टीवी चैनलों को नया फरमान जारी किया है। इसके तहतभारतीय भाषाओं का प्रचार और प्रसार आसान हो जाएगा। दरअसल सरकार ने फरमान सुनाया है कि अब सभी चैनलों को शोज के टाइटल भारतीय भाषाओं में भी दिखाना अनिवार्य होगा। केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इसकी जानकारी देते हुए कहा "टीवी चैनल कोई भी सीरियल दिखाएं, उस सीरियल की शुरूआत और अंत में कई बार इन शोज़ का टाइटल सिर्फ इंग्लिश में देखने को मिलता है। अब भारतीय भाषाओं के प्रचार—प्रसार के लिए ये फैसला लिया गया है कि अब सभी टीवी चैनल इन शोज़ के टाइटल को भारतीय भाषाओं में ही दिखाएं।" आग उन्होने कहा कि "भारतीय भाषाओं के साथ ही साथ अगर टीवी चैनल इंग्लिश में भी क्रेडिट देना चाहते हैं तो वे ऐसा करने के लिए स्वतंत्र हैं। उन्होने कहा कि हम किसी के उपर कोई भी पाबंदी नहीं लगा रहे हैं, बल्कि भारतीय भाषाओं को बढ़ावा दे रहे हैं। उन्होने कहा कि हम ऐसे ही आदेश सिनेमा के लिए भी लागू करने जा रहे हैं।"