दोहरी नागरिकता वालों की कुंडली तैयार कर रही सरकार,70 लोग राडार पर

download (1)

सोनौली । भारत-नेपाल के बीच सदियों से पुराने रोटी-बेटी के रिश्ते की आड़ में हित साधने वालों की अब खैर नहीं है। नेपाल सरकार के बाद अब भारत सरकार ने अब ऐसे लोगों की कुंडली तैयार कर रही है। जिन्होंने भारत और नेपाल दोनों देश की दोहरी नागरिकता ले रखी है।

Government Preparing The Horoscope Of Dual Citizens 70 People On Radar :

भारत में नागरिकता संशोधन कानून के बाद भारत सरकार के निर्देश पर पुलिस और खुफिया विभाग दोहरी नागरिकता पर काफी सख्त हो गई है। भारत सरकार ने आपसी सहयोग से गुप्तचर विभाग के अधिकारियों को ऐसे संदिग्ध लोगों की सूची तैयार करने का निर्देश दिया है जिन्होंने दोनों देशों की नागरिकता ली हो अथवा जिन्होंने फर्जी दस्तावेज के सहारे नागरिकता हासिल की हो।

भारत-नेपाल के बीच खुली सीमा के चलते सामाजिक और व्यापारिक संबंध वर्षो से कायम हैं। इसका लाभ लेकर सीमावर्ती भारत और नेपाल के सभी जिलों के बड़ी संख्या में लोगों ने दोनों देश की भी नागरिकता ले ली है। जिसमे नेपाली मूल के लोगों का भी है। वहां के अनेक लोग भारत में भी जमीन जायदाद खरीदकर यहां की नागरिकता हासिल कर चुके हैं। अब स्थिति यह है कि दोहरी नागरिकता वाले लोग दोनों देशों में वोट देने के साथ ही अन्य लाभ ले रहे हैं। इसी को रोकने के लिए नेपाल सरकार अभियान चलाकर दोहरी नागरिकता वाले लोगों को चिन्हित कर रही है। यही हाल अब भारत में होने जा रहा है। करीब 70 लोग नेपाली सुरक्षा एजेंसी के रडार पर हैं।

सोनौली । भारत-नेपाल के बीच सदियों से पुराने रोटी-बेटी के रिश्ते की आड़ में हित साधने वालों की अब खैर नहीं है। नेपाल सरकार के बाद अब भारत सरकार ने अब ऐसे लोगों की कुंडली तैयार कर रही है। जिन्होंने भारत और नेपाल दोनों देश की दोहरी नागरिकता ले रखी है। भारत में नागरिकता संशोधन कानून के बाद भारत सरकार के निर्देश पर पुलिस और खुफिया विभाग दोहरी नागरिकता पर काफी सख्त हो गई है। भारत सरकार ने आपसी सहयोग से गुप्तचर विभाग के अधिकारियों को ऐसे संदिग्ध लोगों की सूची तैयार करने का निर्देश दिया है जिन्होंने दोनों देशों की नागरिकता ली हो अथवा जिन्होंने फर्जी दस्तावेज के सहारे नागरिकता हासिल की हो। भारत-नेपाल के बीच खुली सीमा के चलते सामाजिक और व्यापारिक संबंध वर्षो से कायम हैं। इसका लाभ लेकर सीमावर्ती भारत और नेपाल के सभी जिलों के बड़ी संख्या में लोगों ने दोनों देश की भी नागरिकता ले ली है। जिसमे नेपाली मूल के लोगों का भी है। वहां के अनेक लोग भारत में भी जमीन जायदाद खरीदकर यहां की नागरिकता हासिल कर चुके हैं। अब स्थिति यह है कि दोहरी नागरिकता वाले लोग दोनों देशों में वोट देने के साथ ही अन्य लाभ ले रहे हैं। इसी को रोकने के लिए नेपाल सरकार अभियान चलाकर दोहरी नागरिकता वाले लोगों को चिन्हित कर रही है। यही हाल अब भारत में होने जा रहा है। करीब 70 लोग नेपाली सुरक्षा एजेंसी के रडार पर हैं।