मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन होंगी छत्तीसगढ़ की प्रभारी राज्यपाल

मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन होंगी छत्तीसगढ़ की प्रभारी राज्यपाल
मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन होंगी छत्तीसगढ़ की प्रभारी राज्यपाल

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बलरामजी दास टंडन के निधन के बाद मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को छत्तीसगढ़ का अतिरिक्त प्रभार सौंपा। राष्ट्रपति भवन के प्रवक्ता ने कहा कि छत्तीसगढ़ के राज्यपाल की नियुक्ति तक पटेल अतिरिक्त जिम्मेदारी का निर्वहन करेंगी। बताया जा रहा है कि आनंदी बेन बुधवार को एक सादे समारोह में राज्यपाल पद की शपथ लेंगी। जल्द ही इस संबंध में आदेश जारी किए जाने की खबर है।

Governor Of Madhya Pradesh Anandiben Patel To Take Additional Charge Of Chhattisgarh :

बता दें कि छत्तीसगढ़ के राज्यपाल बलरामजी दास टंडन को बेचैनी होने के बाद डॉ. बीआर अंबेडकर स्मारक अस्पताल ले जाया गया था। टंडन जनसंघ के संस्थापक सदस्यों में से एक थे और जुलाई, 2014 को छत्तीसगढ़ के राज्यपाल बने थे। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने दोपहर 2:10 बजे राज्यपाल के निधन की पुष्टि की, और अपनी शोक संवेदना प्रकट की।

उन्होंने कहा, ‘छत्तीसगढ़ के राज्यपाल बलरामजी दास टंडन ने लगभग चार वर्षों तक अपनी मूल्यवान सेवाएं दीं। राज्यपाल के रूप में वह छत्तीसगढ़ के विकास को लेकर काफी सजग रहते थे। विगत चार वर्षों में प्रदेश के हितों को लेकर और प्रदेशवासियों की बेहतरी से जुड़े विषयों को लेकर मुझे हमेशा उनका मार्गदर्शन मिलता रहा है। मुझे ऐसा लग रहा है कि हम सबने अपने राज्य के अभिभावक को हमेशा के लिए खो दिया है।’

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बलरामजी दास टंडन के निधन के बाद मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को छत्तीसगढ़ का अतिरिक्त प्रभार सौंपा। राष्ट्रपति भवन के प्रवक्ता ने कहा कि छत्तीसगढ़ के राज्यपाल की नियुक्ति तक पटेल अतिरिक्त जिम्मेदारी का निर्वहन करेंगी। बताया जा रहा है कि आनंदी बेन बुधवार को एक सादे समारोह में राज्यपाल पद की शपथ लेंगी। जल्द ही इस संबंध में आदेश जारी किए जाने की खबर है। बता दें कि छत्तीसगढ़ के राज्यपाल बलरामजी दास टंडन को बेचैनी होने के बाद डॉ. बीआर अंबेडकर स्मारक अस्पताल ले जाया गया था। टंडन जनसंघ के संस्थापक सदस्यों में से एक थे और जुलाई, 2014 को छत्तीसगढ़ के राज्यपाल बने थे। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने दोपहर 2:10 बजे राज्यपाल के निधन की पुष्टि की, और अपनी शोक संवेदना प्रकट की। उन्होंने कहा, 'छत्तीसगढ़ के राज्यपाल बलरामजी दास टंडन ने लगभग चार वर्षों तक अपनी मूल्यवान सेवाएं दीं। राज्यपाल के रूप में वह छत्तीसगढ़ के विकास को लेकर काफी सजग रहते थे। विगत चार वर्षों में प्रदेश के हितों को लेकर और प्रदेशवासियों की बेहतरी से जुड़े विषयों को लेकर मुझे हमेशा उनका मार्गदर्शन मिलता रहा है। मुझे ऐसा लग रहा है कि हम सबने अपने राज्य के अभिभावक को हमेशा के लिए खो दिया है।'