बिहार: हत्यारोपी एमएलसी पुत्र की जमानत को चुनौती देगा जद (यू)

Govt To Challenge Rocky Yadavs Bail In Supreme Court

पटना| बिहार में गया के चर्चित रोडरेज मामले में व्यवसायी पुत्र आदित्य सचदेवा की हत्या के आरोपी रॉकी यादव को पटना उच्च न्यायालय ने जमानत दे दी है। सत्ताधारी गठबंधन का घटक जनता दल (युनाइटेड) ने कहा कि सरकार पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने के लिए इस फैसले को सर्वोच्च न्यायालय में चुनौती देगी। रॉकी यादव गया-जहानाबाद-अरवल क्षेत्र से विधान पार्षद (एमएलसी) मनोरमा देवी का बेटा है। उसे जमानत मिलने से पीड़ित परिवार आहत है।




पटना उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति इकबाल अहमद अंसारी की एकल पीठ ने बुधवार को रॉकी यादव की जमानत याचिका की सुनवाई की और देर शाम उसे जमानत पर रिहा करने का आदेश दिया। इससे पहले पटना उच्च न्यायालय से रॉकी यादव के पिता बिंदी यादव और मां मनोरमा देवी को भी जमानत मिल चुकी है। जद (यू) के प्रदेश प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा, “सरकार पीड़ित परिवार के साथ है। न्यायालय का यह विशेषाधिकार है कि किसे जमानत दे या नहीं दे। लेकिन सरकार पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने के लिए सभी पायदान तक जाएगी।”

इधर, रॉकी को जमानत मिलने के बाद पीड़ित परिवार डर गया है। इंसाफ की उम्मीदें खत्म हो गई हैं। आदित्य की मां चंदा सचदेवा फूट-फूट कर रो रही हैं। उन्होंने कहा, “कहां है बिहार सरकार? मेरे बेटे की हत्या के एक महीने बाद सरकार घर आई और कहा इसे छोटा केस नहीं समझिएगा। पर अब क्या हुआ? कातिल को सजा मिलने की सारी उम्मीदें खत्म हो गईं। पांच महीने में आरोपी को जमानत मिल गई।” सर्वोच्च न्यायालय में अपील करने के सवाल पर आदित्य के पिता श्याम सचदेवा ने कहा, “हम क्यों जाएं सर्वोच्च न्यायालय? सरकार जाएगी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बिहार के अभिभावक हैं, जब सरकार ही नहीं जाएगी तो हमलोगों की क्या औकात?”

रॉकी यादव जद (यू) की निलंबित विधान पार्षद मनोरमा देवी का बेटा है। उसके पिता बिंदी यादव भी अपने क्षेत्र के दबंग हैं। आदित्य की मां ने सवालिया लहजे में कहा, “कोई बताए कि किस आधार पर रॉकी को जमानत दी गई? सारे सबूत उसके खिलाफ थे। हत्या के बाद साथ रहे दोस्तों की गवाही पूरी दुनिया ने सुनी-देखी है। आज भी वह वीडियो मेरे पास है, आप लोगों के पास भी होगा।” उन्होंने कहा कि अब तो इंसाफ मिलने की उम्मीद भी नहीं है।

उल्लेखनीय है कि इसी साल सात मई की रात बोधगया से लौट रहे जद (यू) विधान पार्षद मनोरमा देवी के बेटे रॉकी की लैंड रोवर कार को एक व्यवसायी के बेटे आदित्य सचदेवा ने ओवरटेक किया, जिसके बाद दोनों में कहासुनी हुई। इसी दौरान, रॉकी ने कथित तौर पर आदित्य को गोली मार दी। बुरी तरह घायल आदित्य की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। इस घटना के बाद गया में कई दिनों तक बवाल मचा था।

इधर, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश अध्यक्ष मंगल पांडेय ने कहा कि सरकार समर्थित अपराधी अदालत से जमानत पा जा रहे हैं। सराकर अदालत मजबूती से पक्ष नहीं रख पा रही है, जिसका फायदा स्त्ता समर्थित अपराधियों को मिल रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने भी सरकार की मंशा पर संदेह व्यक्त करते हुए कहा कि सरकार की शिथिलता के कारण रॉकी यादव को जमानत मिली। हाल के कई घटनाक्रम एसे हैं जो सरकार पर संदेह पैदा करते हैं।



पटना| बिहार में गया के चर्चित रोडरेज मामले में व्यवसायी पुत्र आदित्य सचदेवा की हत्या के आरोपी रॉकी यादव को पटना उच्च न्यायालय ने जमानत दे दी है। सत्ताधारी गठबंधन का घटक जनता दल (युनाइटेड) ने कहा कि सरकार पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने के लिए इस फैसले को सर्वोच्च न्यायालय में चुनौती देगी। रॉकी यादव गया-जहानाबाद-अरवल क्षेत्र से विधान पार्षद (एमएलसी) मनोरमा देवी का बेटा है। उसे जमानत मिलने से पीड़ित परिवार आहत है। पटना उच्च न्यायालय के मुख्य…