1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. ग्रेटर नोएडा: यमुना प्राधिकरण की फर्जी वेबसाइट बना सवा करोड़ से अधिक की ठगी

ग्रेटर नोएडा: यमुना प्राधिकरण की फर्जी वेबसाइट बना सवा करोड़ से अधिक की ठगी

उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में साइबर ठगों ने यमुना प्राधिकरण की फर्जी वेबसाइट बनाकर उस वेबसाइट पर आवासीय स्कीम लांच कर दी। ठगो के इस झांसे में आकर सैकंडो लोगो ने अपनी मेहनत की कमाई को खो दिया। आरोपी साइबर ठगो ने इस तरह से लगभग सवा करोड़ रुपये की ठगी को अंजाम दे दिया। घटना की शिकायत पर अब बिसरख थाना पुलिस ने एक आरोपी नोएडा से गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस आरोपी से पूछताछ करने में जुटी है।

By Sachin 
Updated Date

उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में साइबर ठगों ने यमुना प्राधिकरण की फर्जी वेबसाइट बनाकर उस वेबसाइट पर आवासीय स्कीम लांच कर दी। ठगो के इस झांसे में आकर सैकंडो लोगो ने अपनी मेहनत की कमाई को गंवा दिया। आरोपी साइबर ठगो ने इस तरह से लगभग सवा करोड़ रुपये की ठगी को अंजाम दे दिया। घटना की शिकायत पर अब बिसरख थाना पुलिस ने एक आरोपी नोएडा से गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस आरोपी से पूछताछ करने में जुटी है।

पढ़ें :- तैयारियां पूरी:सांसद खेल स्पर्धा का कल से होगा आगाज-विधायक ऋषि त्रिपाठी

एक फर्म के खाते में जमा कराया गया ठगी का रुपया
जानकारी केअनुसार ग्रेटर नोएडा के बिसरख थाने में बीते माह कुछ लोगो ने शिकायत करते हुए बताया था कि कुछ लोगो ने यमुना प्राधिकरण की फर्जी वेबसाइट बनाकर उनके साथ लाखो रुपये की ठगी की है। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच शुरु कर दी थी। इस मामले में अब पुलिस ने जांच के बाद नोएडा सेक्टर-128 की एक सोसायटी निवासी मधुर सहगल को गिरफ्तार किया है। आरोपी से पूछताछ में पुलिस को पता चला है कि ठगी के रुपयो को एक फर्म के खाते में डलवाये गये है। पुलिस उस फर्म के बारे में भी जांच करने में जुट गई है। इस मामले में जल्द ही ओर भी गिरफ्तार हो सकती है।

यमुना प्राधिकरण से मिलती-जुलती वेबसाइट बनाकर की करोड़ो की ठगी
यमुना प्राधिकरण द्वारा जेवर एयरपोर्ट के पास आवासीय भूखंडो की एक योजना निकाली गई थी। जिसमें फार्म भरने वालो की संख्या काफी पहुंच गई थी। इसी को देखकर ठगो ने दो माह पहले यमुना प्राधिकरण से बिल्कुल मिलती जुलती फर्जी वेबसाइट बनाकर ठगने का धंधा शुरु किया। ठगो ने यमुना एक्सप्रेस किनारे स्थित एक सोसायटी में सस्ते दामो में प्लॉट देने की घोषणा की थी और लकी ड्रा से अवंटन करने का झांसा दिया गया था। इस फर्जी वेबसाइट के माध्यम से ठगो ने लोगो से 15000, 21000 और 31000 रुपये भूखंड बुक करने के लिए जमा कराये थे। इस तरह लगभग सवा करोड़ रुपये की धोखाधड़ी हुई है।

पढ़ें :- Good Initiative : स्टेट नेशनल होम्योपैथिक मेडिक​ल कॉलेज व हॉस्पिटल लखनऊ के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. जितेंद्र कुमार ने मरीजों की सेवा कर मनाया जन्म दिन
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...