जीएसटी का असरः मोबाइल और कंप्यूटर हो सकते है, मंहगे

Gst Ka Asar Mobile Our Computer Ho Skte Hai Mahge

नई दिल्ली। वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) परिषद ने नई कर की दरें निर्धारित कर दी हैं। बता दें कि सरकार ने जीएसटी को 1 जुलाई 2017 से लागू करने का लक्ष्य रखा है। सेवाओं के लिए चार दर स्लैब 5,12,18,28 प्रतिशत की रहेगी। रिपोर्ट के मुताबिक, जीएसटी आने के बाद मोबाइल, डीटीएच और इंटरनेट सर्विस महंगी हो जाएंगी।




इसका सीधा असर भारत में बनाए जा रहे स्मार्टफोन पर होगा। लेकिन जीएसटी आ जाने के बाद ये हैंडसेट 12 प्रतिशत की जीएसटी के साथ उपलब्ध होंगे। दूसरी तरफ, पहले आयात किए गए फोन 17-27 फीसदी इंपोर्ट ड्यूटी के साथ आते थे। इसका मतलब है कि जिन फोन को आयात करके भारत में बेचा जाता है वे सस्ते हो जाएंगे।



इन प्रोडक्ट के कुछ पार्ट 18 फीसदी वाले स्लैब में आएंगे और कुछ 28 फीसदी वाले स्लैब में। आज की तारीख में आप लैपटॉप और टेलीविज़न पर 26.5 प्रतिशत टैक्स देते हैं। कंप्यूटर के पुर्जों पर 10.3 प्रतिशत का टैक्स लगता है। इसका मतलब है कि पर्सनल कंप्यूटर और लैपटॉप पहले की तुलना में थोड़े बहुत महंगे हो सकते हैं।

नई दिल्ली। वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) परिषद ने नई कर की दरें निर्धारित कर दी हैं। बता दें कि सरकार ने जीएसटी को 1 जुलाई 2017 से लागू करने का लक्ष्य रखा है। सेवाओं के लिए चार दर स्लैब 5,12,18,28 प्रतिशत की रहेगी। रिपोर्ट के मुताबिक, जीएसटी आने के बाद मोबाइल, डीटीएच और इंटरनेट सर्विस महंगी हो जाएंगी। इसका सीधा असर भारत में बनाए जा रहे स्मार्टफोन पर होगा। लेकिन जीएसटी आ जाने के बाद ये हैंडसेट 12 प्रतिशत…