गुजरात: कांग्रेस ने विधायकों को रिजॉर्ट में ठहराया, मालिक के खिलाफ FIR

congress
गुजरात: कांग्रेस ने विधायकों को रिजॉर्ट में ठहराया, मालिक के खिलाफ FIR

अहमदाबाद। अपने विधायकों के इस्तीफों से परेशान कांग्रेस ने उन्हें गुजरात के राजकोट स्थित एक रिजॉर्ट में शिफ्ट कर दिया है। वहीं, अब रिजॉर्ट मालिक के खिलाफ पुलिस ने लॉक डाउन उल्लंघन की एफआईआर दर्जकर ली है। बता दें कि, राज्यसभा चुनाव से पहले कांग्रेस के कई विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है,जिसके चलते कांग्रेस ने यह कदम उठाया है।

Gujarat Congress Appointed Mlas In Resort Fir Against Owner :

इस बारे में कांग्रेस के एक नेता का कहना था कि 65 में से अधिकांश विधायक अलग-अलग रिजॉर्ट में पहुंच चुके हैं। राज्‍य की चार सीटों पर होने वाले राज्‍यसभा चुनाव से पहले बीजेपी के पाले में जाने से बचाने के लिए पार्टी आलाकमान ने इन्‍हें बुलवाया है।

रविवार को पुलिस ने राजकोट के नीलसिटी रिजॉर्ट के मालिक और प्रबंधक के खिलाफ लॉकडाउन अधिसूचना का उल्लंघन करते हुए कांग्रेस विधायकों के लिए रिजॉर्ट खोलने को लेकर एफआईआर दर्ज की है। अधिसूचना के अनुसार होटलों और रेस्‍टोरेंटों के सोमवार तक खुलने पर रोक थी।

यह एफआईआर यूनिवर्सिटी रोड थाने में लिखाई गई है। केंद्र और राज्य सरकार के दिशानिर्देशों के अनुसार होटल और रेस्‍टोरेंट 8 जून से अपना कामकाज बहाल कर सकते हैं, जबकि सौराष्ट्र क्षेत्र के कांग्रेस विधायक शनिवार को ही राजकोट के इस रिजॉर्ट में ठहराए गए थे।

बता दें कि, राज्यसभा की 18 खाली सीटों पर आने वाले 19 जून को चुनाव होने हैं। इनमें से 4 सीटें गुजरात के हिस्से में हैं। राज्य विधानसभा में बीजेपी के पास 103 विधायक हैं जबकि उसे एनसीपी के एक और बीटीपी के दो विधायकों का समर्थन हासिल है। वहीं, कांग्रेस के पास अपने 71 विधायक थे। 8 विधायकों के इस्तीफे के बाद अब 65 कांग्रेसी विधायक बचे हैं। इसके अलावा निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी का कांग्रेस को समर्थन भी प्राप्त है।

अहमदाबाद। अपने विधायकों के इस्तीफों से परेशान कांग्रेस ने उन्हें गुजरात के राजकोट स्थित एक रिजॉर्ट में शिफ्ट कर दिया है। वहीं, अब रिजॉर्ट मालिक के खिलाफ पुलिस ने लॉक डाउन उल्लंघन की एफआईआर दर्जकर ली है। बता दें कि, राज्यसभा चुनाव से पहले कांग्रेस के कई विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है,जिसके चलते कांग्रेस ने यह कदम उठाया है। इस बारे में कांग्रेस के एक नेता का कहना था कि 65 में से अधिकांश विधायक अलग-अलग रिजॉर्ट में पहुंच चुके हैं। राज्‍य की चार सीटों पर होने वाले राज्‍यसभा चुनाव से पहले बीजेपी के पाले में जाने से बचाने के लिए पार्टी आलाकमान ने इन्‍हें बुलवाया है। रविवार को पुलिस ने राजकोट के नीलसिटी रिजॉर्ट के मालिक और प्रबंधक के खिलाफ लॉकडाउन अधिसूचना का उल्लंघन करते हुए कांग्रेस विधायकों के लिए रिजॉर्ट खोलने को लेकर एफआईआर दर्ज की है। अधिसूचना के अनुसार होटलों और रेस्‍टोरेंटों के सोमवार तक खुलने पर रोक थी। यह एफआईआर यूनिवर्सिटी रोड थाने में लिखाई गई है। केंद्र और राज्य सरकार के दिशानिर्देशों के अनुसार होटल और रेस्‍टोरेंट 8 जून से अपना कामकाज बहाल कर सकते हैं, जबकि सौराष्ट्र क्षेत्र के कांग्रेस विधायक शनिवार को ही राजकोट के इस रिजॉर्ट में ठहराए गए थे। बता दें कि, राज्यसभा की 18 खाली सीटों पर आने वाले 19 जून को चुनाव होने हैं। इनमें से 4 सीटें गुजरात के हिस्से में हैं। राज्य विधानसभा में बीजेपी के पास 103 विधायक हैं जबकि उसे एनसीपी के एक और बीटीपी के दो विधायकों का समर्थन हासिल है। वहीं, कांग्रेस के पास अपने 71 विधायक थे। 8 विधायकों के इस्तीफे के बाद अब 65 कांग्रेसी विधायक बचे हैं। इसके अलावा निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी का कांग्रेस को समर्थन भी प्राप्त है।