गुजरात चुनाव में ISIS पर विजय रूपाणी बनाम अहमद पटेल

अहमदाबाद। गुजरात विधानसभा चुनाव के मद्दे नज़र सियासी घमासान तेज हो गया है। राजनीतिक पार्टियां वोट बैंक को अपनी तरफ लुभाने खातिर एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाने में जुट गयी हैं। एक नया विवाद इन दिनों गुजरात की सियासी गलियारों में चर्चा का विषय बना हुआ है। मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कांग्रेस नेता अहमद पटेल पर ISIS संदिग्ध से संबंध होने के आरोप लगाए हैं।

दरअसल, दो दिन पहले अंकलेश्वर के सरदार पटेल हॉस्पिटल में लैब टेक्नीशियन के रूप में कार्यरत कासिम टिम्बरवाला को एटीएस ने आईएसआईएस में संलिप्तता के आधार पर गिरफ्तार किया था। जिसको लेकर मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल से स्पष्टीकरण मांगा था।

भाजपा का पटेल पर आरोप

भाजपा ने पटेल पर आरोप लगाया कि संदिग्ध आतंकी कासिम जिस अस्पताल में कार्यरत था, अहमद पटेल उस अस्पताल के ट्रस्टी रह चुके हैं। उनके प्रयासों से ही वर्ष 2016 में तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के हाथों अस्पताल का लोकार्पण हुआ था, ऐसे में यह सवाल उठता है कि उनके संबंध वाले अस्पताल में कोई संदिग्ध आतंकी नौकरी कैसे कर रहा था। इतना ही नहीं, सीएम ने संदिग्ध आतंकी के पकड़े जाने से कुछ दिन पहले ही उसके नौकरी से इस्तीफा देने पर सवाल उठाते हुए कहा कि संदिग्ध आतंकी ने इस्तीफा दिया या उससे लिया गया। इस बारे में भी स्पष्टता की जाए।

{ यह भी पढ़ें:- राहुल गांधी 11 दिसंबर को बनाए जा सकते हैं कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष }

पटेल का भाजपा को जबाब
गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी के आरोपों को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व सांसद अमहद पटेल ने खारिज कर दिया है। अहमद पटेल ने कहा है कि राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर राजनीति न करें। वहीं इससे पहले कांग्रेस ने भी अहमद पटेल का समर्थन करते हुए इन आरोपों को साजिश करार दिया है।

क्या कहता है अस्पताल प्रशासन
अब अस्पताल प्रबंधन ने इसका जवाब दिया है। अस्पताल ने कहा है कि अहमद पटेल और उनके परिवार का इस मामले से कोई संबंध नहीं है। अस्पताल से जुड़े आयेश एन पटेल ने कहा कि संदिग्ध कासिम अस्पताल के कॉन्ट्रैक्ट पर एम्पलॉयी था। उसने 4 तारीख को रिजाइन किया था और अस्पताल ने उसे 24 को रिलीज कर दिया।

{ यह भी पढ़ें:- क्या पाटीदारों को लेकर गुजरात में यूपी वाली गलती दोहराएगी कांग्रेस }

यह है मामला
बता दें कि बुधवार को गुजरात एटीएस ने खूंखार आतंकी संगठन आइएस के दो आतंकियों उबेद और कासिम को गिरफ्तार किया था। इसमें से कासिम सरदार पटेल अस्पताल में इको कार्डियोग्राम टेक्नीशियन के तौर पर काम करता था और उबेद सूरत की डिस्टि्रक्ट कोर्ट में एडवोकेट था।

Loading...