1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. Gujarat: जामनगर और राजकोट में भारी बारिश से बाढ़ के हालात, राहत व बचाव कार्य में तेजी

Gujarat: जामनगर और राजकोट में भारी बारिश से बाढ़ के हालात, राहत व बचाव कार्य में तेजी

गुजरात के जामनगर राजकोट में पिछले कुछ दिनों से भारी बारिश हो रही है। बारिश की वजह से हर तरफ पानी ही पानी दिखायी दे रहा है। यातायात प्रभावित है। कई गांवों का संपर्क सड़कों से टूट गया है।

By अनूप कुमार 
Updated Date

अहमदाबाद: गुजरात (Gujarat) के जामनगर (Jamnagar), राजकोट  (Rajkot) में पिछले कुछ दिनों से भारी बारिश (Heavy rain)हो रही है। बारिश की वजह से हर तरफ पानी ही पानी दिखायी दे रहा है। यातायात प्रभावित (traffic affected) है। कई गांवों का संपर्क सड़कों से टूट गया है।भारी बारिश से बुरी तरह प्रभावित दोनों जिलों में एनडीआरएफ (NDRF)और एसडीआरएफ ( एसडीआरएफ ) की टीमों की ओर से चलाए जा रहे राहत व बचाव कार्यों (rescue operations) में मदद के लिए भारतीय वायुसेना, नौसेना और तटरक्षक बल (Coast Guard)को बुलाया गया है।

पढ़ें :- Maharashtra: बाला साहेब के विचार हमारे साथ, मैं ​साधारण शिवसैनिक, दशहरा रैली में बोले एकनाथ शिंदे

 लोगों को सुरक्षित स्‍थान पर भेजा गया

इस इलाके की नदियां उफान पर हैं। सड़कों पर काफी पानी भर गया है। दोनों ही शहरों में बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं। बचाव और राहत कार्य में जुटे हुए बचाव कर्मी लोगों को सुरक्षित स्‍थानों पर पहुचा रहे है। राजकोट और जामनगर जिलों में बाढ़ में फंसे हुए 200 से अधिक लोगों को बचाया गया जबकि दोनों जिलों में सात हजार से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। अब तक सिर्फ जामनगर में 5000 से अधिक लोगों को सुरक्षित स्‍थान पर भेजा जा चुका है।।

 मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने प्रभावित इलाकों का दौरा किया

गुजरात के नए मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल (Bhupendra Patel) ने मंगलवार को जामनगर जिले के प्रभावित इलाकों का दौरा किया और बाढ़ प्रभावित लोगों को मदद का आश्वासन दिया। बाढ़ के कारण जामनगर में एक राष्ट्रीय राजमार्ग के अलावा सौराष्ट्र क्षेत्र के राजकोट, जामनगर और जूनागढ़ जिलों से गुजरने वाले 18 राज्य राजमार्ग बंद कर दिए गए, जिससे यातायात प्रभावित हुआ।

पढ़ें :- Heavy rain in Lucknow : नगर निगम के कंट्रोल रूम के नंबर पर कॉल करके अपनी समस्या दर्ज कराया जा सकता है

एसडीआरएफ की दो टीमें गोंडल और लोधिका तालुका में तैनात

खबरों केअनुसार,राजकोट के जिलाधिकारी अरुण महेश बाबू ने कहा, ‘नौसेना की एक टीम सोमवार को राजकोट में पानी के तेज बहाव में कार के बह जाने के बाद लापता हुए दो लोगों की तलाश के लिए अभियान में मदद कर रही है।’ उन्होंने कहा, ‘एसडीआरएफ की दो टीमों को गोंडल और लोधिका तालुका में तैनात किया गया है।’ उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले 1,467 और शहरी क्षेत्रों से 600 से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...