डाक्टर का खुलासा: प्रद्युम्न के शरीर पर नहीं मिले यौन शोषण के सबूत

नई दिल्ली। रेयान इंटरनेशनल स्कूल के छात्र प्रद्युम्न की पोस्टमार्टम रिपोर्ट शरीर पर यौन शोषण से संबंधित किसी तरह का कोई सबूत नहीं मिला है। डॉक्टर दीपक माथुर के मुताबिक छात्र की मौत खून बह जाने की वजह से हुई है क्योंकि कातिल ने उसकी गर्दन पर चाकू से दो वार किए थे। प्रद्युमन की मौत के बाद उसके शव की जांच करने वाले सरकारी डॉक्टर दीपक माथुर ने बताया कि जांच के दौरान पता चला कि उसकी मौत का कारण ज्यादा खून बह जाना था। हालांकि उसके शरीर पर कहीं भी यौन शोषण से संबंधित कोई निशान नहीं मिले हैं।

Gurgaon Pradumman Murder Corpse Investigation Sexual Abuse Proof Docto :

इससे पहले धारा 164 के तहत रेयान इंटरनेशनल स्कूल के दो बच्चों के बयान दर्ज किए गए हैं। दोनों बच्चों ने मजिस्ट्रेट और एसआईटी टीम के सामने बताया कि उन्होंने कंडक्टर अशोक को घटना के ठीक पहले बाथरूम में देखा था। इस मामले में पुलिस को कुछ और जानकारियां भी मिली हैं।

बच्चों के बयान के मुताबिक उस वक्त स्कूल के टॉयलेट में कुल तीन बच्चे थे। प्रद्युम्न की हत्या से पहले तीनों बच्चों ने कंडक्टर अशोक को टॉयलेट के अंदर देखा था। बच्चों ने अपने बयान में खुलासा किया है कि उस वक्त एक माली भी टॉयलेट के अंदर था। उसने भी कंडक्टर को टॉयलेट के अंदर देखा था। इसके बाद चारों टॉयलेट के बाहर चले गए थे। इसी बीच मौका पाकर उसी वक्त अशोक ने बच्चे की हत्या कर दी।

नई दिल्ली। रेयान इंटरनेशनल स्कूल के छात्र प्रद्युम्न की पोस्टमार्टम रिपोर्ट शरीर पर यौन शोषण से संबंधित किसी तरह का कोई सबूत नहीं मिला है। डॉक्टर दीपक माथुर के मुताबिक छात्र की मौत खून बह जाने की वजह से हुई है क्योंकि कातिल ने उसकी गर्दन पर चाकू से दो वार किए थे। प्रद्युमन की मौत के बाद उसके शव की जांच करने वाले सरकारी डॉक्टर दीपक माथुर ने बताया कि जांच के दौरान पता चला कि उसकी मौत का कारण ज्यादा खून बह जाना था। हालांकि उसके शरीर पर कहीं भी यौन शोषण से संबंधित कोई निशान नहीं मिले हैं।इससे पहले धारा 164 के तहत रेयान इंटरनेशनल स्कूल के दो बच्चों के बयान दर्ज किए गए हैं। दोनों बच्चों ने मजिस्ट्रेट और एसआईटी टीम के सामने बताया कि उन्होंने कंडक्टर अशोक को घटना के ठीक पहले बाथरूम में देखा था। इस मामले में पुलिस को कुछ और जानकारियां भी मिली हैं।बच्चों के बयान के मुताबिक उस वक्त स्कूल के टॉयलेट में कुल तीन बच्चे थे। प्रद्युम्न की हत्या से पहले तीनों बच्चों ने कंडक्टर अशोक को टॉयलेट के अंदर देखा था। बच्चों ने अपने बयान में खुलासा किया है कि उस वक्त एक माली भी टॉयलेट के अंदर था। उसने भी कंडक्टर को टॉयलेट के अंदर देखा था। इसके बाद चारों टॉयलेट के बाहर चले गए थे। इसी बीच मौका पाकर उसी वक्त अशोक ने बच्चे की हत्या कर दी।