1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Guru Purnima : देश के शिक्षकों को पीएम मोदी ने किया नमन, बोले- जहां ज्ञान, वहीं है पूर्णता

Guru Purnima : देश के शिक्षकों को पीएम मोदी ने किया नमन, बोले- जहां ज्ञान, वहीं है पूर्णता

गुरु पूर्णिमा (Guru Purnima) के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि वैश्विक कोरोना महामारी के दौर में मानवता पर संकट खड़ा कर दिया है। ऐसे में भगवान बुद्ध के विचार हमारे लिए मददगार साबित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम बुद्ध के मार्ग पर चलकर किसी भी बड़ी चुनौती का आसानी सामना कर सकते हैं। ऐसा भारत ने कर के दुनिया को दिखाया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। गुरु पूर्णिमा (Guru Purnima) के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि वैश्विक कोरोना महामारी के दौर में मानवता पर संकट खड़ा कर दिया है। ऐसे में भगवान बुद्ध के विचार हमारे लिए मददगार साबित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम बुद्ध के मार्ग पर चलकर किसी भी बड़ी चुनौती का आसानी सामना कर सकते हैं। ऐसा भारत ने कर के दुनिया को दिखाया है। पीएम मोदी ने कहा कि बुद्ध के सम्यक विचार को लेकर आज दुनिया के सभी देश एक दूसरे का हाथ थाम रहे हैं। पीएम मोदी यह विचार शनिवार को गुरु पूर्णिमा के अवसर पर आषाढ़ पूर्णिमा-धम्म चक्र दिवस कार्यक्रम में वर्चुअली शामिल होकर व्यक्त किया ।

पढ़ें :- Mann Ki Baat Live : मन की बात में PM मोदी का एलान, अब 'शहीद भगत सिंह के नाम से जाना जाएगा चंडीगढ़ एयरपोर्ट'

मोदी के संबोधन की अहम बातें

पढ़ें :- PM मोदी पर हमले की योजना बनाया था PFI, ED की जांच में हुआ खुलासा

सारनाथ में भगवान बुद्ध ने पूरे जीवन व ज्ञान का सूत्र हमें बताया था। जिसमें उन्होंने दुख का कारण बताया था। उन्होंने बताया कि दुखों से जीता जा सकता है और इस जीत का रास्ता भी तय हो सकता है।

पढ़ें :- PM मोदी ने जब आधी रात को विदेश मंत्री एस. जयशंकर को किया फोन, जानें वजह

पीएम मोदी (PM Modi)  ने बताया कि आज हम गुरु पूर्णिमा (Guru Purnima)  क्यूं मनाते हैं। उन्होंने बताया कि आज ही के दिन भगवान बुद्ध ने बुद्धत्व की प्राप्ति के बाद अपना पहला ज्ञान संसार को दिया था। पीएम मोदी ने कहा कि हमारे यहां कहा गया है कि जहां ज्ञान है, वहीं पूर्णता है। बुद्ध ने कहा था कि बैर से बैर शांत नहीं होता, बल्कि बैर बड़े मन से शांत होता है। दुनिया ने इसे महसूस किया है। बुद्ध का यह ज्ञान जैसे-जैसे समृद्ध होगा, विश्व एक नई ऊंचाई को छुएगा। पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा कि आप सभी को धम्मचक्र प्रवर्तन दिवस और आषाढ़ पूर्णिमा की बहुत-बहुत शुभकामनाएं। उन्होंने कहा कि आज हम गुरु-पूर्णिमा भी मनाते हैं, और आज के ही दिन भगवान बुद्ध ने बुद्धत्व की प्राप्ति के बाद अपना पहला ज्ञान संसार को दिया था।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बोधि वृक्ष लगाया

देश के राष्ट्रपति कोविंद ने आषाढ़ पूर्णिमा के अवसर पर सभी गुरुजनों को बधाई दी। इसके साथ उन्होंने कहा कि भगवान बुद्ध ने जीवन के सभी पहलुओं में नैतिकता और संयम के साथ रहने का संदेश दिया है। उनके इस संदेश में सार्वभौमिक करुणा और अहिंसा झलकती है । इसी दौरान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ram Nath Kovind) ने राष्ट्रपति भवन में पवित्र बोधि वृक्ष का पौधा लगाया।

पढ़ें :- बिहार में नीतीश से मिले धोखे का दर्द अमित शाह की जुबान पर आया, लालू यादव को दी बड़ी 'नसीहत'

अमित शाह ने गुरुओं को किया नमन

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ( Union Home Minister Amit Shah)  ने गुरु पूर्णिमा पर ट्विटर के जरिए गुरुजनों के प्रति आभार व्यक्त किया। शाह ने ट्वीट किया कि गुरु एक शिक्षक ही नहीं, बल्कि अपने ज्ञान से शिष्य के सभी दोषों को दूर कर हर संकट से बाहर निकालने वाला मार्गदर्शक भी होता है।

पढ़ें :- PM मोदी और राष्ट्रपति मुर्मू ने Raju Srivastava के निधन पर जताया शोक
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...