आप में उठा पटक जारी, घुग्घी का इस्तीफा और उपकार सिंह संधू निष्कासित

नई दिल्ली। दिल्ली की सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) के भीतर दिल्ली एमसीडी चुनावों के बाद शुरू हुई उठा पटक थमने का नाम नहीं ले रही है। दिल्ली के कैबिनेट मंत्री कपिल मिश्रा ने जहां मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल पर भ्रष्टाचार और अन्य नेताओं पर गंभीर आरोप लगाए हैं वहीं दूसरी ओर पार्टी की पंजाब विंग में बुधवार को दो बड़े नेता पार्टी से अलग हो गए है। पंजाब के पूर्व प्रदेश संयोजक गुरुप्रीत सिंह विर्क उर्फ घुग्घी ने पार्टी से इस्तीफा दिया है तो दूसरी ओर पार्टी ने पंजाब के ही अपने बड़े उपकार सिंह संधू को पार्टी वि​रोधी गतिविधियों के आरोपों के साथ बाहर का रास्ता दिया है। संधू वही नेता हैं जिन्हें अमृतसर लोकसभा सीट के लिए हुए उपचुनाव में पार्टी के उम्मीदवार बनाया था।



उपकार सिंह संधू पर हुई कार्रवाई को सांसद भगवंत मान को पंजाब आप का संयोजक बनाए जाने की आलोचना की प्रतिक्रिया के रूप में देखा जा रहा है। वहीं दो दिन पहले पंजाब संयोजक के पद से हटाए गए गुरुप्रीत सिंह घुग्घी ने अपनी प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। घुग्घी बॉलीवुड और पंजाबी फिल्म इंडस्ट्री के जाने माने चेहरे रहे हैं। उन्होंने पंजाब विधानसभा से ठीक पहले आप ज्वाइन की थी और जल्द ही उन्हें पार्टी का प्रदेश संयोजक बना दिया गया था।




घुग्घी के इस्तीफे को पार्टी के बागी कपिल मिश्रा ने पंजाब चुनावों के दौरान हुई घटनाओं से आहत बताया है। कपिल मिश्रा का आरोप है कि घुग्घी ने पार्टी की पीएसी के सामने चुनाव के दौरान नेताओं द्वारा टिकट को बेंचे जाने और लड़कियों के लाए जाने की शिकायत की थी। जिसे लंबे समय से ठंडे बस्ते में रखा गया। जब शिकायतों पर सुनवाई होती नहीं दिखी तो घुग्घी ने सवाल उठाने शुरू कर दिए थे। इस वजह से उन्हेंं प्रदेश संयोजक के पद से हटा दिया गया था।




अपना इस्तीफा देते हुए घुग्घी ने कहा कि उन्होने जिस आम आदमी पार्टी को उसके सिद्धांतों के चलते ज्वाइन किया था, वह अपने सिद्धांतों से भटक गई है। उन्हें जिस तरह से दिल्ली में चली घंटों लंबी बैठक के बाद उन्हें प्रदेश संयोजक के पद से हटाया गया वह बेहद चोट पहुंचाने वाला है। अगर हाईकमान उन्हें हटाना चाहता था तो सिर्फ एक फोन कॉल कर देते वह खुशी—खुशी अपना इस्तीफा भेज देते।




घुग्घी और संधू के पार्टी से अलग होने के बाद पंजाब आप एक बार फिर टूट के मुहाने पर खड़ी नजर आ रही है। ऐसा माना जा रहा है कि आप के कुछ विधायक भी पार्टी से वगावत कर सकते हैं।

Loading...