1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Gyanvapi Survey : शिवलिंग मामले में बोले प्रमोद कृष्णम- ‘प्रत्यक्ष को प्रमाण की जरूरत नहीं, राज ठाकरे और ओवैसी सौतेले भाई

Gyanvapi Survey : शिवलिंग मामले में बोले प्रमोद कृष्णम- ‘प्रत्यक्ष को प्रमाण की जरूरत नहीं, राज ठाकरे और ओवैसी सौतेले भाई

कांग्रेस नेता श्री कल्कि पीठाधीश्वर आचार्य प्रमोद कृष्णन महाराज ने रामलला के दरबार पहुंचकर दर्शन पूजन किया। राम झरोखे से ही भगवान राम लला के मंदिर निर्माण की प्रक्रिया से भी रूबरू हुए।मीडिया से बात करते हुए ज्ञानवापी मामले पर उन्होंने कहा कि प्रत्यक्ष को प्रमाण की जरूरत नहीं है। जो सामने आ गया उसको किसी प्रमाण की जरूरत नहीं है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

अयोध्या। कांग्रेस नेता श्री कल्कि पीठाधीश्वर आचार्य प्रमोद कृष्णन महाराज ने रामलला के दरबार पहुंचकर दर्शन पूजन किया। राम झरोखे से ही भगवान राम लला के मंदिर निर्माण की प्रक्रिया से भी रूबरू हुए।मीडिया से बात करते हुए ज्ञानवापी मामले पर उन्होंने कहा कि प्रत्यक्ष को प्रमाण की जरूरत नहीं है। जो सामने आ गया उसको किसी प्रमाण की जरूरत नहीं है। आचार्य प्रमोद कृष्णम के साथ हरियाणा के राज्यसभा सांसद दीपेंद्र हुड्डा भी मौजूद थे। उन्होंने कहा कि साक्ष्य सामने आया है। इसलिए कोर्ट फास्ट ट्रैक में इस मामले पर निर्णय सुनाए।

पढ़ें :- प्रदेश में अब ठंड का सितम कम, इन शहरों में 33 डिग्री सेल्सियस रहेगा तापमान

ताजमहल कुतुबमीनार हिंदुओं को सौंप दे सरकार: प्रमोद कृष्णन

आचार्य प्रमोद कृष्णम ने ताजमहल के सवाल पर भी सरकार को ही टारगेट करने की कोशिश की है। उन्होंने कहा कि भारत सरकार को चाहिए कि ताजमहल और कुतुब मीनार हिंदुओं को सौंप दे। राज ठाकरे के विरोध के मामले पर बोलते हुए कहा कि ब्रज भूषण शरण सिंह और राज ठाकरे दोनों एक ही थाली के चट्टे बट्टे हैं। वहीं, ओवैसी को उन्होंने राज ठाकरे का सौतेला भाई बताते हुए कहा कि ना तो इनका कोई धर्म है और ना ही कोई मजहब। न ही कोई राशि। यह केवल राजनीति चमकाने के लिए बयानबाजी करते हैं।

न्यायालय का सम्मान करना हमारा कर्तव्य

ज्ञानवापी मामले पर कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा कि यह बहुत ही चमत्कारी विषय है। हमारी आस्था से जुड़ा हुआ है। मामला कोर्ट के अधीन है। न्यायालय के किसी भी फैसले का सम्मान करना हमारा कर्तव्य है। उन्‍होंने कहा कि हम न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हैं। पहले भी किया है और अब भी करेंगे। आचार्य प्रमोदकृष्णम ने कहा कि ज्ञानवापी का मामला हमारी आस्था से जुड़ा हुआ है। भारत की जन भावना से जुड़ा हुआ विषय है, लेकिन यह मामला न्यायालय में विचाराधीन है। शिवलिंग को अब तक क्यों छुपाया गया, किसने छुपाया, यह बाद का विषय है।

पढ़ें :- निचलौल में हो रहे 108 कुंडीय गायत्री महायज्ञ में स्काउट गाइड की भूमिका अहम

 

ताजमहल कुतुबमीनार हिंदुओं को सौंप दे सरकार

ताजमहल प्रकरण पर बोलते हुए आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा कि कोर्ट न्यायालय ने ताजमहल पर बंद तालों को खुलवाने से मना कर दिया है। कुतुब मीनार और ताजमहल भारत सरकार के अधीन है। भारत सरकार को चाहिए कि ताजमहल और कुतुब मीनार भारत सरकार हिंदुओं को सौंप दे। यह विषय भारत सरकार का है। हम राष्ट्र और देश के साथ हैं।

राज और ओवैसी सौतेले भाई

ओवैसी को भी आड़े हाथों लेते हुए कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा कि राज ठाकरे और एआईएमआईएम के प्रमुख ओवैसी को किसी आस्था, श्रद्धा, संस्कार और राष्ट्र से कोई मतलब नहीं है। राज ठाकरे और ओवैसी सौतेले भाई जैसे हैं।

पढ़ें :- Parag Milk Prices Increased: महंगाई का एक और बड़ा झटका, अमूल के बाद पराग ने भी बढ़ाए दूध के दाम

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...