12 साल तक नहीं देना पड़ेगा बिजली का बिल! आया ये नया डिवाइस

बिजली के बिल से परेशान लोगों के लिए यह राहतभरी खबर है कि मार्केट में अब ऐसा डिवाइस आ चुका है जो उन्हें फ्री में बिजली उपलब्ध कराएगा। यह डिवाइस लगातार 12 साल तक फ्री में बिजली देने में सक्षम है और जल्द ही मार्केट में उपलब्ध हो रहा है। इस डिवाइस को भारत में जन्‍मे अरबपति उद्यमी और समाजसेवी मनोज भार्गव ने नई दिल्ली में आयोजित हुए एक इवेंट के दौरान डॉक्यूमेंट्री फिल्म- बिलियन्स इन चेंज 2 में दिखाया है। इस इवेंट में 5 नए अविष्कारों का लाइव डेमो दिखाया गया है जो बुनियादी जरूरतों का सीधा समाधान करते हैं।

भार्गव ने इस इवेंट के दौरान पोर्टेबल सोलर डिवाइस हंस 300 पावरपैक और हंस सोलर को भारतीय मार्केट में उतारने के लिए कहा है। इनमें हंस पावरपैक डिवाइस केवल न सिर्फ बिजली उत्पन्न करता है बल्कि इसमें बिजली स्टोर भी होती है। इसी तरह हंस सोलर ब्रिफकेस एक तरह का सोलर पावर स्टेशन है। उनका कहना हे कि इस डिवाइस से भारी तादाद में जरुरतमंद लोगों को बिजली उपलब्ध कराई जा सकती है।

{ यह भी पढ़ें:- iPhone यूजर्स के लिए खुशखबरी, अब व्हाट्सएप पर ही देख सकेंगे Youtube video }

हंस 300 पावरपैक से पैदा होने वाली बिजली से कई बल्ब, टीवी, पंखे जैसी मूलभूत आवश्यकता वाली चीजें चलाई जा सकती हैं। इसके 130 घंटे और 300 घंटे का पावर देने वाले दो वैरिएंट में लाया गया है। इन दोनों ही वेरियंट्स की कीमत क्रमश: 10,000 रुपए और 14,000 रुपए रखी गई है। इसमें सबसे खास बात ये है इसके लिए कंपनी की ओर से 12 सालों की गारंटी दी जा रही है। इसका मतलब 12 साल तक आपको बिजली का बिल नहीं देना होगा।

इस डिवाइस को भारत में अगले साल मई तक लाया जा रहा है। हंस पावरपैक और हंस सोलर ब्रिफकेस के जरिए ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली की जरुरतों को पूरा किया जा सकता है और इसके लिए बिल भी नहीं चुकाना होगा।

भार्गव ने इस इवेंट के दौरान दो रेनमेकर फिल्ट्रेशन यूनिट्स को भी शोकेस किया है। इससे खारे और गंदे पानी को साफ कर कृषि और पीने योग्य बनाया जा सकता है। इसके साथ ही शिवांश फर्टीलाइजर मेथड की जानकारियां भी दीं गई जिससे महज 18 घंटो में वेस्ट मटेरियल से न्यूट्रीयंट से भरपूर खाद बनाए जा सकते हैं। इस खाद को किसान कृषि में यूरिया के विकल्प के तौर पर यूज कर सकते हैं।

{ यह भी पढ़ें:- फरवरी से व्हाट्सऐप पर भी मिलेगी पेटीएम की सुविधा }

Loading...