Hanuman Jayanti 2019: भूलकर भी हनुमान जयंती के दिन न करें ये काम

Hanuman Jayanti 2019:
Hanuman Jayanti 2019: भूलकर भी हनुमान जयंती के दिन न करें ये काम

लखनऊ। आज यानि 19 अप्रैल को पूरे देशभर में हनुमान जयंती मनाई जा रही है। हिंदू धर्म में मान्यता है कि हनुमान जयंती के दिन बंजरंग बली की पूजा करने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है और भय से मुक्ति मिलती है। भगवान हनुमान जी की पूजा करते समय बेहद सावधानी की जरूरत होती है लेकिन कई बार जाने-अनजाने में हम कुछ ऐसी बड़ी गलतियां कर देते हैं, जिसकी वजह से बजरंगबली नाराज हो जाते हैं। आज हम आपको हनुमान जयंती पर पूजन से जुड़ी कुछ मुख्य बाते बताने जा रहे हैं…

Hanuman Jayanti 2019 Avoid Doing These 5 Things While Worshipping Lord Hanuman :

कपड़ों के रंग का सही चयन

बजरंग बली का लाल रंग बेहद प्रिय है। ऐसे में पूजा करते समय हनुमान जी को लाल रंग के फूल, कपड़ें आदि अर्पित करें। हनुमान जी की पूजा काले या सफेद रंग के कपड़े पहनाकर बिल्कुल न करें। ऐसा करने पर आपकी पूजा पर नकरात्मक प्रभाव पड़ता है। पूजा करने के लिए हमेशा लाल और पीले रंग के कपड़ों का ही प्रयोग करें।

नमक का न करें सेवन

हनुमान जी की पूजा करने वाले भक्त को मंगलवार या हनुमान जयंती के व्रत वाले दिन नमक का सेवन नहीं करना चाहिए। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि दान में दी गई वस्तु, विशेष रूप से मिठाई का स्वयं सेवन न करें।

ऐसी स्थिति में न करें हनुमान जी की पूजा

श्री बजरंग बली काफी शांतप्रिय देवता माने जाते हैं, इसलिए उनकी साधना बड़े ही शांत मन से करनी चाहिए। यदि आपका मन अशांत है या फिर आपको किसी बात पर क्रोध आ रहा है, तो ऐसे में हनुमान जी की पूजा न करें।

बजरंगबली को न चढ़ाएं चरणामृत

बहुत कम ही लोग इस बात को जानते हैं कि हनुमान जी की पूजा में कभी भी चरणामृत का प्रयोग नहीं किया जाता है। मांस-मदिरा का सेवन करने के बाद भी न तो हनुमान मंदिर जाएं और न ही उनकी पूजा करें।

स्त्रियां हनुमान जी को न करें स्पर्श

हनुमानजी की पूजा करते समय ब्रह्राचर्य व्रत का पालन करना चाहिए। हनुमान जी बाल ब्रह्मचारी थे इस वजह से पूजा के दौरान स्त्रियों को उन्हे स्पर्श नहीं करना चाहिए।

लखनऊ। आज यानि 19 अप्रैल को पूरे देशभर में हनुमान जयंती मनाई जा रही है। हिंदू धर्म में मान्यता है कि हनुमान जयंती के दिन बंजरंग बली की पूजा करने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है और भय से मुक्ति मिलती है। भगवान हनुमान जी की पूजा करते समय बेहद सावधानी की जरूरत होती है लेकिन कई बार जाने-अनजाने में हम कुछ ऐसी बड़ी गलतियां कर देते हैं, जिसकी वजह से बजरंगबली नाराज हो जाते हैं। आज हम आपको हनुमान जयंती पर पूजन से जुड़ी कुछ मुख्य बाते बताने जा रहे हैं... कपड़ों के रंग का सही चयन बजरंग बली का लाल रंग बेहद प्रिय है। ऐसे में पूजा करते समय हनुमान जी को लाल रंग के फूल, कपड़ें आदि अर्पित करें। हनुमान जी की पूजा काले या सफेद रंग के कपड़े पहनाकर बिल्कुल न करें। ऐसा करने पर आपकी पूजा पर नकरात्मक प्रभाव पड़ता है। पूजा करने के लिए हमेशा लाल और पीले रंग के कपड़ों का ही प्रयोग करें। नमक का न करें सेवन हनुमान जी की पूजा करने वाले भक्त को मंगलवार या हनुमान जयंती के व्रत वाले दिन नमक का सेवन नहीं करना चाहिए। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि दान में दी गई वस्तु, विशेष रूप से मिठाई का स्वयं सेवन न करें। ऐसी स्थिति में न करें हनुमान जी की पूजा श्री बजरंग बली काफी शांतप्रिय देवता माने जाते हैं, इसलिए उनकी साधना बड़े ही शांत मन से करनी चाहिए। यदि आपका मन अशांत है या फिर आपको किसी बात पर क्रोध आ रहा है, तो ऐसे में हनुमान जी की पूजा न करें। बजरंगबली को न चढ़ाएं चरणामृत बहुत कम ही लोग इस बात को जानते हैं कि हनुमान जी की पूजा में कभी भी चरणामृत का प्रयोग नहीं किया जाता है। मांस-मदिरा का सेवन करने के बाद भी न तो हनुमान मंदिर जाएं और न ही उनकी पूजा करें। स्त्रियां हनुमान जी को न करें स्पर्श हनुमानजी की पूजा करते समय ब्रह्राचर्य व्रत का पालन करना चाहिए। हनुमान जी बाल ब्रह्मचारी थे इस वजह से पूजा के दौरान स्त्रियों को उन्हे स्पर्श नहीं करना चाहिए।