1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. हनुमानगढ़ी अयोध्या ने पटना के महावीर मंदिर पर ठोका अपना दावा, जानें क्या है पूरा मामला

हनुमानगढ़ी अयोध्या ने पटना के महावीर मंदिर पर ठोका अपना दावा, जानें क्या है पूरा मामला

हनुमानगढ़ी अयोध्या ने पटना के महावीर मंदिर पर अपना दावा ठोककर अपने स्वामित्व का दावा किया है। इसके मालिकाना हक को लेकर हनुमानगढ़ी की ओर से एक महीने तक जगह-जगह हस्ताक्षर अभियान चलाया गया।

By प्रिन्स राज 
Updated Date

पटना। हनुमानगढ़ी अयोध्या ने पटना के महावीर मंदिर पर अपना दावा ठोककर अपने स्वामित्व का दावा किया है। इसके मालिकाना हक को लेकर हनुमानगढ़ी की ओर से एक महीने तक जगह-जगह हस्ताक्षर अभियान चलाया गया। अब उस हस्ताक्षर अभियान को आधार बनाकर बिहार धार्मिक न्यास पर्षद को पत्र भेजकर मंदिर पर अपने स्वामित्व का दावा किया है। महावीर मंदिर न्यास समिति ने शुक्रवार को पटना में प्रेस वार्ता कर मामले में अपना पक्ष रखा है।

पढ़ें :- प्रो. अखिलेश सिंह बने राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय अयोध्या के नए कुलपति

आचार्य कुणाल ने इस मामले पर कहा कि अयोध्या में महावीर मंदिर की ओर से संचालित हो रही राम रसोई की ख्याति हाल के दिनों में देश भर में फैली है। साथ ही, राम मंदिर के निर्माण में न्यास समिति की ओर से प्रतिवर्ष दो करोड़ रुपये की सहयोग राशि का संकल्प है और यह राशि दी जा चुकी है। इन सबके साथ-साथ केसरिया में विराट रामायण मंदिर के निर्माण की प्रक्रिया चल रही है। साथ ही पटना में पांच विशाल अस्पतालों के निर्माण एवं सुव्यवस्था के कारण लोकप्रियता को लेकर महावीर मंदिर हनुमानगढ़ी के कुछ लोगों की आंखों की किरकिरी बन गया है।

मामले में बिहार धार्मिक न्यास पर्षद ने अबतक कोई टिप्पणी नहीं की है लेकिन महावीर मंदिर न्यास समिति ने हनुमानगढ़ी के दावे को बेबुनियाद और निराधार बताया है। आपको बता दें कि आचार्य किशोर कुणाल ने प्रेस कान्फ्रेंस के दौरान 15 अप्रैल, 1948 को पटना उच्च न्यायालय की खण्डपीठ के एक महत्त्वपूर्ण निर्णय और इस तथ्य का का हवाला भी दिया, जिसमें महावीर मंदिर को सार्वजनिक मंदिर घोषित किया गया है।

 

पढ़ें :- Major Road Accident in Bahraich : ट्रक व ट्रैवलर की टक्कर में 7 की मौत, 9 घायल
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...