जन्मदिन विशेष: एक आवाज जिसने बच्चों को खूब डराया, कुछ ऐसी थी गब्बर की आवाज

मुंबई। बॉलीवुड की ब्लॉकबस्टर फिल्म शोले में विलेन गब्बर सिंह का यादगार किरदार निभाने वाले अमजद खान का जन्म आज के दिन हुआ था। अमजद खान के इस किरदार को आज भी लोग बखूबी याद करते हैं। आज भी बच्चों को गब्बर सिंह के नाम पर डराया जाता है कि सो जाओ नहीं तो गब्बर आ जाएगा। शोले में गब्बर सिंह की हंसी और जोरदार डायलॉग आज भी लोगों के दिलो दिमाग में छाए हुए हैं।

बेशक अमजद खान अब इस दुनिया में नहीं हैं, लेकिन उनका निभाया गब्बर सिंह का किरदार आज भी लोगों के जहन में जिंदा है और आने वाले कई सालों तक उन्हें याद किया जाएगा। शोले में गब्बर सिंह के रोल के लिए पहले डैनी का नाम सोचा गया था। डैनी को ध्यान में रखते हुए ही इस किरदार को गढ़ा गया था। लेकिन वक्त की कमी के चलते डैनी ने यह रोल करने से इनकार कर दिया।
डैनी के इंकार के बाद इस रोल को फिल्म के डायरेक्टर से अमजद खान को देने की बात कही गयी। जब अमजद के पास ये रोल पहुंचा, तो वो स्क्रिप्ट सुनकर घबरा गए। हालांकि बाद में काफी सोच विचार करने के बाद उन्होंने यह फिल्म करने के लिए हां कर दी।
पाकिस्तान के पेशावर शहर में जन्मे अमजद खान ने करीब 130 फिल्मों में काम किया, लेकिन क्लासिक फिल्म ‘शोले’ में उनका गब्बर किरदार यादगार रहा। अमजद खान की मौत 51 साल की उम्र में हार्ट अटैक से हुई। इस हार्ट अटैक की वज‍ह बना एक बड़ा हादसा। अमजद अपनी फिल्म द ग्रेट गैंबलर की शूटिंग के लिए मुंबई गोवा-हाईवे से जा रहे थे तभी रास्ते में उनकी गाड़ी का एक्सीडेंट हो गया।
यह एक्सीडेंट इतना भयानक था कि वह कोमा में चले गए। कुछ समय बाद वह कोमा से तो बाहर आ गए थे लेकिन इस एक्सीडेंट के बाद उनका वजन बढ़ने लगा और आखि‍रकार साल 1992 में उनका हार्ट फेल होने से देहान्त हो गया।

{ यह भी पढ़ें:- सनी लियोन को 'सेक्सी बार्बी गर्ल' पर लगवाये ठुमके, आवाज बन गयी पहचान }

Loading...