Ganesh Chaturthi 2019: गणेश चतुर्थी पर इन मंत्रों का करें जाप, बनेंगे बिगड़े हुए काम

Ganesh Chaturthi 2019: गणेश चतुर्थी पर इन मंत्रों का करें जाप, बनेंगे बिगड़े हुए काम
Ganesh Chaturthi 2019: गणेश चतुर्थी पर इन मंत्रों का करें जाप, बनेंगे बिगड़े हुए काम

लखनऊ। आज भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी है, इसी दिन भगवान गणेश का जन्म हुआ था। गणेश चतुर्थी को गणेश चौथ और विनायक चतुर्थी भी कहते हैं। आज पूरे देशभर में गणेश चतुर्थी का त्योहार बड़े ही धूमधाम से मनाया जा रहा है। 10 दिनों तक चलने वाला यह गणेशोत्सव आज से 12 सितंबर तक पूरे जश्न के साथ मनाया जाएगा। इस उत्सव में हर एक व्यक्ति भगवान गणपति की कृपा-दृष्टि पाने का इच्छुक रहता है।

Happy Ganesh Chaturthi 2019 Wishes Ganpati Mantra :

भगवान गणेश को विघ्नकर्ता कहा जाता है यानि सभी कष्टों को दूर करने वाला। चाहे नौकरी हो या शादी-ब्याह, बिजनेस या और भी दूसरे काम बन नहीं रहे तो नीचे दिए गए मंत्रों का करें जाप।

ॐ श्रीं गं सौम्याय गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा।

विवाह में हो रही है देरी या पाना हो मनपसंद जीवनसाथी
ॐ गं नमः

आर्थिक मामलों में आ रही अड़चनें होंगी दूर
गं क्षिप्रप्रसादनाय नम:

इस मंत्र के उच्चारण से काम में आने वाली बाधाएं दूर होंगे और आत्मबल की प्राप्ति होगी।
ॐ हस्ति पिशाचि लिखे स्वाहा

काम में आ रही अड़चनों को दूर करने, आलस्य, कलह और निराशा मिटाने के लिए इस मंत्र का जाप करें।
ॐ वक्रतुण्डैक दंष्ट्राय क्लीं ह्रीं श्रीं गं गणपते वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा।

लखनऊ। आज भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी है, इसी दिन भगवान गणेश का जन्म हुआ था। गणेश चतुर्थी को गणेश चौथ और विनायक चतुर्थी भी कहते हैं। आज पूरे देशभर में गणेश चतुर्थी का त्योहार बड़े ही धूमधाम से मनाया जा रहा है। 10 दिनों तक चलने वाला यह गणेशोत्सव आज से 12 सितंबर तक पूरे जश्न के साथ मनाया जाएगा। इस उत्सव में हर एक व्यक्ति भगवान गणपति की कृपा-दृष्टि पाने का इच्छुक रहता है। भगवान गणेश को विघ्नकर्ता कहा जाता है यानि सभी कष्टों को दूर करने वाला। चाहे नौकरी हो या शादी-ब्याह, बिजनेस या और भी दूसरे काम बन नहीं रहे तो नीचे दिए गए मंत्रों का करें जाप। ॐ श्रीं गं सौम्याय गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा। विवाह में हो रही है देरी या पाना हो मनपसंद जीवनसाथी ॐ गं नमः आर्थिक मामलों में आ रही अड़चनें होंगी दूर गं क्षिप्रप्रसादनाय नम: इस मंत्र के उच्चारण से काम में आने वाली बाधाएं दूर होंगे और आत्मबल की प्राप्ति होगी। ॐ हस्ति पिशाचि लिखे स्वाहा काम में आ रही अड़चनों को दूर करने, आलस्य, कलह और निराशा मिटाने के लिए इस मंत्र का जाप करें। ॐ वक्रतुण्डैक दंष्ट्राय क्लीं ह्रीं श्रीं गं गणपते वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा।