हरभजन सिंह बोले- अगर ऐसा ही बना रहा कोरोना का खतरा तो रद्द कर देना चाहएि IPL

harbhajan singh
हरभजन सिंह बोले- अगर ऐसा ही बना रहा कोरोना का खतरा तो रद्द कर देना चाहएि IPL

नई दिल्ली। कोरोना संकट के चलते इस साल आईपीएल नही हो सका और टी 20 विश्वकप भी नही होने वाला है. ऐसे में क्रिकेटर अपना समय घर वालों के साथ बिता रहे हैं. क्रिकेटर हरभजन ने एक इन्टरव्यू के दौरान कहा कि, आईपीएल टूर्नामेंट हम जरूर खेलना चाहेंगे, लेकिन कोरोना का खतरा ऐसे ही बना रहा तो IPL को रद्द करने में ही भलाई है. वहीं, सुरेश रैना ने कहा, हम खेलेंगे लेकिन अगर आईपीएल होता है तो उसमें काफी स्टाफ जुड़ेगा. कैमरा पर्सन होंगे, लॉजिस्टिक विभाग के लोग होंगे. ऐसे में खिलाड़ी सुरक्षित नहीं होगा तो खेल का कोई मतलब नहीं है. उन्होंने कहा कि एक सेकेंड में खतरा बढ़ सकता है और खेल के सामने जीवन बड़ी चीज है, इसलिए हमें काफी सोच समझकर कदम उठाना होगा.

Harbhajan Singh Said If The Threat Of Corona Remains Like This Then Ipl Should Be Canceled :

हरभजन सिंह ने कहा कि इस समय में हम थोड़ा कम खाकर तो गुजारा कर सकते हैं लेकिन हमें लापरवाही के कारण कोरोना हो गया तो जीवन खतरे में पड़ जाएगा. इसलिए लोगों को इसके प्रति खास तौर पर ध्यान देना चाहिए. सोशल डिस्टेंसिंग समेत अन्य सभी नियमों और निर्देशों का पालन करना जरूरी है.

हरभजन सिंह ने कहा, ‘कोरोना वारयस के कारण काफी कुछ सीखने को मिला है. पहले मैं किसी और के दुख को समझ नहीं सकता था लेकिन अब मैं काफी लोगों की मदद कर पा रहा हूं. लोगों को खाना खिलाकर और उन्हें उनके घर पहुंचाकर उनकी मदद कर रहा हूं. उन्होंने कहा कि आने वाले टाइम में मैं एक जमीन खरीद रहा हूं और उस जमीन पर जो भी फसल होगी उसका इस्तेमाल गरीब लोगों की मदद के लिए लगाउंगा.

2011 क्रिकेट वर्ल्ड कप की ट्रॉफी उठाने वाली भारतीय टीम के दिग्गज खिलाड़ी हरभजन सिंह ने कहा, मैंने पिछले दो से तीन महीने में सबसे ज्यादा ट्रेनिंग की है. कोरोना के काल में खिलाड़ियों को इसके साथ जीना सीखना होगा.

नई दिल्ली। कोरोना संकट के चलते इस साल आईपीएल नही हो सका और टी 20 विश्वकप भी नही होने वाला है. ऐसे में क्रिकेटर अपना समय घर वालों के साथ बिता रहे हैं. क्रिकेटर हरभजन ने एक इन्टरव्यू के दौरान कहा कि, आईपीएल टूर्नामेंट हम जरूर खेलना चाहेंगे, लेकिन कोरोना का खतरा ऐसे ही बना रहा तो IPL को रद्द करने में ही भलाई है. वहीं, सुरेश रैना ने कहा, हम खेलेंगे लेकिन अगर आईपीएल होता है तो उसमें काफी स्टाफ जुड़ेगा. कैमरा पर्सन होंगे, लॉजिस्टिक विभाग के लोग होंगे. ऐसे में खिलाड़ी सुरक्षित नहीं होगा तो खेल का कोई मतलब नहीं है. उन्होंने कहा कि एक सेकेंड में खतरा बढ़ सकता है और खेल के सामने जीवन बड़ी चीज है, इसलिए हमें काफी सोच समझकर कदम उठाना होगा. हरभजन सिंह ने कहा कि इस समय में हम थोड़ा कम खाकर तो गुजारा कर सकते हैं लेकिन हमें लापरवाही के कारण कोरोना हो गया तो जीवन खतरे में पड़ जाएगा. इसलिए लोगों को इसके प्रति खास तौर पर ध्यान देना चाहिए. सोशल डिस्टेंसिंग समेत अन्य सभी नियमों और निर्देशों का पालन करना जरूरी है. हरभजन सिंह ने कहा, 'कोरोना वारयस के कारण काफी कुछ सीखने को मिला है. पहले मैं किसी और के दुख को समझ नहीं सकता था लेकिन अब मैं काफी लोगों की मदद कर पा रहा हूं. लोगों को खाना खिलाकर और उन्हें उनके घर पहुंचाकर उनकी मदद कर रहा हूं. उन्होंने कहा कि आने वाले टाइम में मैं एक जमीन खरीद रहा हूं और उस जमीन पर जो भी फसल होगी उसका इस्तेमाल गरीब लोगों की मदद के लिए लगाउंगा. 2011 क्रिकेट वर्ल्ड कप की ट्रॉफी उठाने वाली भारतीय टीम के दिग्गज खिलाड़ी हरभजन सिंह ने कहा, मैंने पिछले दो से तीन महीने में सबसे ज्यादा ट्रेनिंग की है. कोरोना के काल में खिलाड़ियों को इसके साथ जीना सीखना होगा.