मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, दो साल पहले ही मिल जाएगा सबको अपना घर

housing to all
मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, दो साल पहले ही मिल जाएगा सबको अपना घर

नई दिल्ली। ‘सबके लिए घर’ योजना को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने एक बड़ा ऐलान किया है। उन्होने कहा निर्धारित समय से दो साल पहले ही सरकार सभी को घर उपलब्ध करवा देगी। केंद्रीय आवास और शहरी कार्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने शनिवार को एक पत्रकार वार्ता के दौरान कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत सबको आवास मुहैया करवाने का लक्ष्य अब 2020 तक ही पूरा हो जाएगा। उन्होने याद दिलाया कि सरकार ने इसके लिए 2022 की समय-सीमा तय की थी।

Hardeep Singh Puri Says House For All Mission To Achieve Target 2 Yrs Before :

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पीएमएवाई योजना का संचालन बहुत ही बेहतर तरीके से किया जा रहा है। जिसके तहत हर तीन महीने में कई आवासीय परियोजनाओं को मंजूरी प्रदान की जा रही है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय शहरी आवास निधि के तहत पीएमएवाई के लिए खासतौर से अतिरिक्त बजटीय संसाधन के रूप में 60,000 करोड़ रुपये प्रदान किए गए हैं। उन्होने बताया कि राज्यों के साथ ही संघ शा​सित प्रदेशों से भी अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है। इसकी मुख्य वजह प्रतिमाह करीब दो से तीन लाख आवासों को मंजूरी प्रदान करना है। उन्होने कहा कि सरकार का तकरीबन 1.2 करोड़ घरों की कमी पूरा करने और सबको आवास मुहैया करवाने का लक्ष्य है।’

बता दें कि पीएम मोदी ने घोषणा की थी कि 2022 में देश की स्वतंत्रता की 75वीं सालगिरह मनाने से पहले तक देश के सभी परिवारों के पास उनका अपना घर होगा। पूर्वोत्तर के आठ राज्यों में केंद्रीय आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय के पांच प्रमुख कार्यक्रमों के कार्यान्वयन की समीक्षा करने के बाद पुरी ने कहा कि पिछले चार साल में पूर्वोत्तर के राज्यों में पीएमएवाई के तहत शहरी गरीबों के लिए 2.3 लाख और घरों को मंजूरी प्रदान की गई है।

बैठक के दौरान त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब भी मौजूद थे। उन्होंने कहा कि सरकार ने स्मार्ट सिटी परियोजना के कार्यान्वयन के लिए एशियाई विकास बैंक से 400 करोड़ रुपये के कर्ज की मांग की है। जिसके मिलने के बाद विकास को और गति प्राप्त हो जाएगी।

नई दिल्ली। 'सबके लिए घर' योजना को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने एक बड़ा ऐलान किया है। उन्होने कहा निर्धारित समय से दो साल पहले ही सरकार सभी को घर उपलब्ध करवा देगी। केंद्रीय आवास और शहरी कार्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने शनिवार को एक पत्रकार वार्ता के दौरान कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत सबको आवास मुहैया करवाने का लक्ष्य अब 2020 तक ही पूरा हो जाएगा। उन्होने याद दिलाया कि सरकार ने इसके लिए 2022 की समय-सीमा तय की थी।केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पीएमएवाई योजना का संचालन बहुत ही बेहतर तरीके से किया जा रहा है। जिसके तहत हर तीन महीने में कई आवासीय परियोजनाओं को मंजूरी प्रदान की जा रही है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय शहरी आवास निधि के तहत पीएमएवाई के लिए खासतौर से अतिरिक्त बजटीय संसाधन के रूप में 60,000 करोड़ रुपये प्रदान किए गए हैं। उन्होने बताया कि राज्यों के साथ ही संघ शा​सित प्रदेशों से भी अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है। इसकी मुख्य वजह प्रतिमाह करीब दो से तीन लाख आवासों को मंजूरी प्रदान करना है। उन्होने कहा कि सरकार का तकरीबन 1.2 करोड़ घरों की कमी पूरा करने और सबको आवास मुहैया करवाने का लक्ष्य है।'बता दें कि पीएम मोदी ने घोषणा की थी कि 2022 में देश की स्वतंत्रता की 75वीं सालगिरह मनाने से पहले तक देश के सभी परिवारों के पास उनका अपना घर होगा। पूर्वोत्तर के आठ राज्यों में केंद्रीय आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय के पांच प्रमुख कार्यक्रमों के कार्यान्वयन की समीक्षा करने के बाद पुरी ने कहा कि पिछले चार साल में पूर्वोत्तर के राज्यों में पीएमएवाई के तहत शहरी गरीबों के लिए 2.3 लाख और घरों को मंजूरी प्रदान की गई है।बैठक के दौरान त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब भी मौजूद थे। उन्होंने कहा कि सरकार ने स्मार्ट सिटी परियोजना के कार्यान्वयन के लिए एशियाई विकास बैंक से 400 करोड़ रुपये के कर्ज की मांग की है। जिसके मिलने के बाद विकास को और गति प्राप्त हो जाएगी।