हार्दिक की गिरफ्तारी के बाद गुजरात में फिर भड़क सकता पटेल आंदोलन

hardik patel gujrat
हार्दिक की गिरफ्तारी के बाद गुजरात में फिर भड़क सकता पटेल आंदोलन

अहमदाबाद। पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के संयोजक हार्दिक पटेल को गुजरात पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। वो बिना अनुमति के उपवास करने पर हिरासत में ले लिया है। हार्दिक पटेल अहमदाबाद में रविवार को प्रतीकात्मक उपवास पर थे, पुलिस का कहना है कि इसके लिए उन्हें अनुमति नहीं दी गई थी। इसलिए उन्हें गिरफ्तार किया गया है।

Hardik Patel Arrested By Police In Gujrat Taday :

बता दें कि दो साल पहले जब आनंदी बेन पटेल गुजरात की मुख्यमंत्री थीं, उस समय अहमदाबाद के जीएमडीसी ग्राउंड पर उपवास के दौरान हार्दिक पटेल की गिरफ्तारी से पटेल आंदोलन भड़क उठा था। अब पुलिस को डर है कि कहीं दोबारा वैसा ही बवाल न हो जाए, जिसको लेकर प्रशासन एकदम मुस्तैद है। चप्पे—चप्पे पर पुलिस को तैनात कर दिया गया हें

बताया जा रहा है कि पुलिस ने हार्दिक पटेल के साथ साथ उपवास को रोकने के लिए 140 अन्य लोगो को भी गिरफ्तार किया है। अहमदाबाद के निकोल और वस्त्राल इलाके से 58 लोगों की गिरफ्तारी हुई है। पुलिस हार्दिक पटेल और दूसरे पटेल नेताओं को क्राइम ब्रांच लेकर गई है।

पुलिस अधिकारियों की मानें तो राजकोट से अहमदाबाद पहुंच रहे 26 लोगो को पुलिस ने रास्ते में ही गिरफ्तार कर लिया है। हार्दिक पटेल के अलावा 19 पाटीदार संयोजक को को पुलिस ने हिरासत में लिया है। जब पुलिस पटेल नेताओं और कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर रही थी, उस समय पुलिस और कार्यकर्ताओ के बीच धक्का-मुक्की भी हुई।

बता दें कि पाटीदारों के आरक्षण और किसानों की मांग को लेकर हार्दिक पटेल 25 अगस्त से आमरण अनशन पर बैठने वाले थे। जिसके लिए पटेल बाहुल्य इलाके निकोल में प्रशासन से जगह मांगी थी। हार्दिक पटेल ने जिस जगह की अनुमति मांगी थी, उसे प्रशासन ने पार्किंग की जगह में तब्दील कर दिया था। इसी इलाके में चार अन्य मैदानों को प्रशासन ने पार्किंग स्थल में तब्दील कर दिया था। इसी के विरोध में हार्दिक पटेल ने रविवार को एक दिन का सांकेतिक उपवास करने की घोषणा की थी।

अहमदाबाद। पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के संयोजक हार्दिक पटेल को गुजरात पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। वो बिना अनुमति के उपवास करने पर हिरासत में ले लिया है। हार्दिक पटेल अहमदाबाद में रविवार को प्रतीकात्मक उपवास पर थे, पुलिस का कहना है कि इसके लिए उन्हें अनुमति नहीं दी गई थी। इसलिए उन्हें गिरफ्तार किया गया है। बता दें कि दो साल पहले जब आनंदी बेन पटेल गुजरात की मुख्यमंत्री थीं, उस समय अहमदाबाद के जीएमडीसी ग्राउंड पर उपवास के दौरान हार्दिक पटेल की गिरफ्तारी से पटेल आंदोलन भड़क उठा था। अब पुलिस को डर है कि कहीं दोबारा वैसा ही बवाल न हो जाए, जिसको लेकर प्रशासन एकदम मुस्तैद है। चप्पे—चप्पे पर पुलिस को तैनात कर दिया गया हें बताया जा रहा है कि पुलिस ने हार्दिक पटेल के साथ साथ उपवास को रोकने के लिए 140 अन्य लोगो को भी गिरफ्तार किया है। अहमदाबाद के निकोल और वस्त्राल इलाके से 58 लोगों की गिरफ्तारी हुई है। पुलिस हार्दिक पटेल और दूसरे पटेल नेताओं को क्राइम ब्रांच लेकर गई है। पुलिस अधिकारियों की मानें तो राजकोट से अहमदाबाद पहुंच रहे 26 लोगो को पुलिस ने रास्ते में ही गिरफ्तार कर लिया है। हार्दिक पटेल के अलावा 19 पाटीदार संयोजक को को पुलिस ने हिरासत में लिया है। जब पुलिस पटेल नेताओं और कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर रही थी, उस समय पुलिस और कार्यकर्ताओ के बीच धक्का-मुक्की भी हुई। बता दें कि पाटीदारों के आरक्षण और किसानों की मांग को लेकर हार्दिक पटेल 25 अगस्त से आमरण अनशन पर बैठने वाले थे। जिसके लिए पटेल बाहुल्य इलाके निकोल में प्रशासन से जगह मांगी थी। हार्दिक पटेल ने जिस जगह की अनुमति मांगी थी, उसे प्रशासन ने पार्किंग की जगह में तब्दील कर दिया था। इसी इलाके में चार अन्य मैदानों को प्रशासन ने पार्किंग स्थल में तब्दील कर दिया था। इसी के विरोध में हार्दिक पटेल ने रविवार को एक दिन का सांकेतिक उपवास करने की घोषणा की थी।