पुलिस की मदद करेगा हरदोई डीएम द्वारा बना सॉफ्टवेयर ‘साक्षी’

हरदोई। लगन, परिश्रम और मेहनत के बलबूते एक कंधे पर कई जिम्मेदारिया एक साथ उठाई जा सकती है इसी बात की मिसाल पेश किया है हरदोई के डीएम शुभ्रा सक्सेना ने। इस महिला ने एक ऐसा सॉफ्टवेयर तैयार किया है जो प्रदेश के लिए बेहद ही हितकारी होने वाला है। दरअसल शुभ्रा ने जो सॉफ्टवेयर बनाया है उसकी मदद से मुकदमों का निस्तारण के साथ मैनपावर की बचत भी किया जा सकता है। बताया जा रहा है कि इस विशेष प्रकार की सहायता से समस्या से जूझ रहें पीड़ितो को जल्दी न्याय मिलेगा और मामलों में सजा देने के प्रतिशत में भी वृद्धि होगी।



दरअसल इस सॉफ्टवेयर को हरदोई की डीएम शुभ्रा सक्सेना ने तैयार किया है। डीएम हरदोई द्वारा इजाद किए गए इस सॉफ्टवेयर से पुलिस को काफी सहूलियत मिल सकती है। बता दें कि शुभ्रा सक्सेना एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर भी रह चुकी है। मुख्य सचिव राहुल भटनागर ने इस सिस्टम के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सूचना प्रबंधन सिस्टम ‘साक्षी’ को पूरे प्रदेश में लागू किया जायेगा। वहीँ प्रेजेंटेशन के दौरान डीएम हरदोई ने इसके बारे में बताया। उन्होंने कहा कि बढ़ते अपराध के कारण मामलों में देरी हो रही है। क्रिमिनल केस में देरी को ध्यान में रखकर इस सॉफ्टवेयर को तैयार किया गया है, इसमें पुलिस की डिटेल के साथ समन और अपराध संख्या आदि का विवरण होगा। साथ ही इसमें थाना, कोर्ट तारीख वाद संख्या वादी के नाम और गवाह की जानकारी होगी।



कैसे काम करेगा सॉफ्टवेयर
डीएम हरदोई ने इस सॉफ्टवेयर के काम करने के तरीके को बताया, उन्होंने कहा कि सॉफ्टवेयर में समन की जानकारी फीड करते ही एसएसपी,SO के नंबर पर मैसेज चला जाता है। इसके जरिये तत्काल ही वारदात की जानकारी मिल सकती है, सॉफ्टवेयर के जरिये मामलों की समीक्षा बेहद आसान हो जाती है। वहीँ समन से जानकारी मिलने के बाद गवाह के न पहुँचने पर जवाबदेही एसएसपी, SO की होगी।