रेप की घटनाओं को लेकर CM खट्टर ने दिया विवादित बयान

रेप की घटनाओं को लेकर CM खट्टर ने दिया विवादित बयान
रेप की घटनाओं को लेकर CM खट्टर ने दिया विवादित बयान

नई दिल्ली। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने रेप को लेकर विवादित बयान दिया है। उन्होंने रेप व छेड़छाड़ के मामलों में सीधा ही लड़कियों और महिलाओं को दोषी बताया है। उन्होंने कहा है कि 80-90 प्रतिशत रेप के मामलों में आरोपी और पीड़िता एक दूसरे को जानते हैं। उन्होंने कहा कि जब दोनों के बीच किसी दिन कोई अनबन होती है तो लड़की जाकर एफआईआर करा देती है कि मेरा रेप हुआ है।

Haryana Cm Manohar Lal Khattar Controversial Statement On Rape :

एक कार्यक्रम के दौरान हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा, ”सबसे बड़ी चिंता यह है कि रेप और छेड़छाड़ की यह जो घटनाएं हैं, 80-90 प्रतिशत जानकारों के बीच में ही होती हैं। काफी समय तक दोनों इकट्ठे घूमते हैं और एक दिन अनबन हो गई। उस दिन उठ करके एफआईआर करवा देते हैं- ‘इसने मुझे रेप किया।”

बता दें कि यह कोई पहला मौका नहीं जब मनोहर लाल खट्टर ने रेप को लेकर कोई विवादित बयान दिया हो। इससे पहले भी 2014 में उन्होंने बालात्कार के लिए कपड़ो को जिम्मेदार ठहराया था। अब एक बार फिर वह अपने बयान को लेकर चर्चा में हैं।

यही नहीं, जब उनसे लड़कियों और लड़कों की आजादी के विकल्प के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘अगर आप आजादी चाहते हैं तो फिर नंगे क्यों नहीं घूमते. स्वतंत्रता सीमित होनी चाहिए। छोटे-छोटे कपड़ों पर पश्चिम का प्रभाव है। हमारे देश की परंपरा में लड़कियों से शालीन कपड़े पहनने के लिए कहा गया है।’

नई दिल्ली। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने रेप को लेकर विवादित बयान दिया है। उन्होंने रेप व छेड़छाड़ के मामलों में सीधा ही लड़कियों और महिलाओं को दोषी बताया है। उन्होंने कहा है कि 80-90 प्रतिशत रेप के मामलों में आरोपी और पीड़िता एक दूसरे को जानते हैं। उन्होंने कहा कि जब दोनों के बीच किसी दिन कोई अनबन होती है तो लड़की जाकर एफआईआर करा देती है कि मेरा रेप हुआ है। एक कार्यक्रम के दौरान हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा, ''सबसे बड़ी चिंता यह है कि रेप और छेड़छाड़ की यह जो घटनाएं हैं, 80-90 प्रतिशत जानकारों के बीच में ही होती हैं। काफी समय तक दोनों इकट्ठे घूमते हैं और एक दिन अनबन हो गई। उस दिन उठ करके एफआईआर करवा देते हैं- 'इसने मुझे रेप किया।'' बता दें कि यह कोई पहला मौका नहीं जब मनोहर लाल खट्टर ने रेप को लेकर कोई विवादित बयान दिया हो। इससे पहले भी 2014 में उन्होंने बालात्कार के लिए कपड़ो को जिम्मेदार ठहराया था। अब एक बार फिर वह अपने बयान को लेकर चर्चा में हैं। यही नहीं, जब उनसे लड़कियों और लड़कों की आजादी के विकल्प के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, 'अगर आप आजादी चाहते हैं तो फिर नंगे क्यों नहीं घूमते. स्वतंत्रता सीमित होनी चाहिए। छोटे-छोटे कपड़ों पर पश्चिम का प्रभाव है। हमारे देश की परंपरा में लड़कियों से शालीन कपड़े पहनने के लिए कहा गया है।'