पुलिस ने दुष्कर्म पीड़िता के उतरवाए कपड़े, कहा- कहां हुआ है रेप ज़रा दिखाओ तो

हिसार: अपने कारनामों के चलते सुर्ख़ियों में बनी रहने वाली हरियाणा पुलिस एक बार फिर से सुर्खियों में आ गई है। एक नाबालिग रेप पीड़िता ने पुरुष पुलिसकर्मियों पर जांच के नाम पर यौन शोषण करने का आरोप लगाया है। उसने पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में दायर अपनी याचिका में कहा है कि कैथल में पुलिसवालों ने जांच के नाम पर जबरन उसके कपड़े उतरवाए। 14 वर्षीय पीडि़ता ने अपनी याचिका में आरोप लगाया है कि पुलिसवालों ने उसे कपड़े उतारने को कहा ताकि वे यह जांच कर पाएं कि रेप कहां हुआ है। इतना ही नहीं, एक पुलिसवाले ने तो उसकी जांघ भी छूई।



पीडि़ता की याचिका पर सुनवाई करते हुए जस्टिस रेखा मित्तल ने हरियाणा के डीजीपी को नोटिस जारी किया है, जिसका जबाव उन्हें 5 जुलाई को होने वाली सुनवाई तक देनी है। गौरतलब है कि पीडि़ता ने पिछले साल 23 नवंबर को रेप केस दर्ज कराया था, जिसमें उसने आरोपी को पहचानने की बात कही थी। उसके बाद उसका बयान कैथल में प्रथम श्रेणी के न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने रेकॉर्ड हुआ। अपने साथ हुई दरिंदगी बयां करने के साथ ही उसने पुलिस कर्मियों की करतूतों को भी बयान किया। अभी तक आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ एफआईआर नहीं हुई है।




याचिका के अनुसार, पीडि़ता का कहना है कि 23 नवंबर की रात पुलिसकर्मी उसे आरोपी के साथ ही अपराध जांच एजेंसी कार्यालय ले गए। उनलोगों ने उसके साथ जो किया वह रेप से भी बढ़कर था। अपने पिता की मदद से उसने हाईकोर्ट में याचिका दायर की है। याचिका में कहा गया है कि एक पुलिसवाले ने उसकी शर्ट का बटन खोलते हुए कहा कि बताओ रेप कैसे हुआ। और उसके बाद पुलिसवाले ने उसकी जांघ पर हाथ रख दिया। दूसरे पुलिस वाले ने धमकी दी कि इस बारे में किसी से कुछ मत कहना, वर्ना मेडिकल जांच नहीं होगा।