दहेज में नहीं दी कार, 4 साल की बेटी व विवाहिता को जिंदा जलाया

नई दिल्ली। हरियाणा के पानीपत के जींद जिले में एक सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। यहां पर विवाहिता व उसकी चार साल की बच्ची को महज इसलिए जिंदा जलाकर मार दिया गया, क्योंकि उन्हे दहेज में कार व दो लाख का कैश नहीं मिला। विवाहिता के परिजनों ने ससुराल वालों के खिलाफ दहेज हत्या का केस दर्ज किया है। पुलिस आरोपियों की तलाश में लगातार दबिश दे रही है, अभी तक सभी आरोपी पुलिस की गिरफ्त से दूर हैं।



ये हैं मामला—

  • जींद जिले के कस्बा जुलाना में एक विवाहिता को जिंदा जला दिया गया।
  • परिजनों ने ससुराल वालों पर दहेज की मांग पूरी नहीं होने पर बेटी साढ़े 4 साल की पोती को जिंदा जलाने का आरोप लगाया है।
  • पुलिस ने पति समेत 9 ससुरालियों और सहयाेगियों के खिलाफ दहेजहत्या का केस दर्ज किया है।
  • 2 लाख कैश और कार नहीं मिली तो मिट्‌टी का तेल डालकर लगा दी आग।
  • घर में दोनों की डेड बॉडीज पड़ी थी और बाकी घरवाले फरार थे।
  • पड़ाेसियों ने मामले की सूचना पुलिस को दी। घर में आग लगी होने के बाद दरवाजे तोड़कर अंदर पहुंचे तो वहां ये मंजर था।




विवाहिता के परिजनो का ये आरोप—

  • ईगरा निवासी महेंद्र के मुताबिक उनकी बेटी रीतू की शादी 20 फरवरी 2011 को जुलाना के नवीन के साथ हुई थी।
  • शादी के ही कुछ दिन बाद उसे उसके ससुराल वालों ने दहेज के लिए प्रताड़ित करना शुरू कर दिया था।
  • बेटी होने के बावजूद प्रताड़ित करना नहीं छोड़ा।
  • आरोप है कि रीतू के ससुराल वाले उसके मायके वालों पर 2 लाख रुपए और एक कार के लिए दबाव बना रहे थे।
  • 25 साल की रीतू और उसकी साढ़े 4 साल की बेटी मधु को मिट्‌टी का तेल डालकर जला दिया गया।




क्या कहती है पुलिस–

  • पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद दोनों शवों को रीतू के मायके वालों के हवाले कर दिया गया है।
  • पुलिस का कहना है, जल्द ही आरोपी पुलिस की गिरफ्त में होंगे।
Loading...