यूक्रेन का यात्री विमान गिराने पर बोले हसन रूहानी- दोषियों को सजा मिलनी ही चाहिए

Hasan Ruhani
यूक्रेन का यात्री विमान गिराने पर बोले हसन रूहानी- दोषियों को सजा मिलनी ही चाहिए

नई दिल्ली। ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने मंगलवार को कहा कि पिछले सप्ताह यूक्रेन के विमान को गिराने के आरोपियों को सजा मिलनी ही चाहिए। उन्होंने कहा कि किसी भी स्तर पर लापरवाही करने वालों को सजा दी जानी चाहिए। एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में ईरानी राष्ट्रपति ने कहा कि जो सजा का भागी है उसे सजा मिलनी ही चाहिए।

Hassan Rouhani Said After Dropping Ukraines Passenger Plane The Culprits Must Be Punished :

मिसाइल हमले में यूक्रेन के यात्री विमान गिराए जाने के मामले में ईरान ने कार्रवाई करना शुरू कर दिया है। ईरान की न्यायपालिका ने बताया है कि इस मामले में कुछ गिरफ्तारियां की गई हैं। समाचार एजेंसी एपी के हवाले से बताया गया कि गत आठ जनवरी को ईरान ने गलती से अपनी मिसाइल से तेहरान से उड़ान भरने वाले यूक्रेनी विमान को मार गिराया था। इसमें 176 लोगों की मौत हो गई थी। ईरान के राष्ट्रपति ने कहा है कि मामले की जांच के लिए विशेष अदालत का गठन किया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि न्यायपालिक को बड़े जजों की एक स्पेशल कोर्ट बनानी चाहिए जिसमें बड़ी संख्या में विशेषज्ञ हों। बता दें कि बीते बुधवार को तेहरान ने यूक्रेन एयरलाइन के एक विमान को मिशाइन से गिरा दिया थे। इस दुर्घटना में 176 यात्रियों की मौत हो गई थी। हालांकि ईरान ने पहले कई दिनों तक अमेरिकी खुफिया जानकारी के आधार पर पश्चिमी दावों का खंडन किया कि मिसाइल के जरिए उसने ही यूक्रेन का विमान गिराया था।

उधर यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की ने शनिवार को मांग की कि ईरान यूक्रेनी एयरलाइनर को गिराने के लिए जिम्मेदार लोगों को दंडित करे और इसके लिए मुआवजे का भुगतान करे। उन्होंने कहा कि हम उम्मीद करते हैं कि ईरान आरोपियों को ढूंढ निकाले। उन्होंने अपने फेसबुक वॉल पर लिखा कि नुकसान के मुआवजे का भुगतान भी किया जाए।

बता दें कि तेहरान ने शनिवार को स्वीकार किया था कि उसने बुधवार को भूल से यूक्रेन इंटरनेश्नल एयरलाइन के हवाईजहाज को गिरा दिया है। जिसके कारण विमान में बैठे सभी 176 लोगों की मौत हो गई। इराक में अमेरिकी बलों की मेजबानी करने वाले ठिकानों पर मिसाइलों के प्रक्षेपण के दौरान ये भूल हुई।

उन्होंने लिखा कि हमें उम्मीद है कि जांच बिना किसी देरी के और बिना किसी बाधा के आगे बढ़ाई जाएगी। उन्होंने 45 यूक्रेनी विशेषज्ञों की पूरी जांच तक पहुंच का आग्रह किया। ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी ने शनिवार को कहा था कि तेहरान को “इस विनाशकारी गलती का गहरा अफसोस है।

नई दिल्ली। ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने मंगलवार को कहा कि पिछले सप्ताह यूक्रेन के विमान को गिराने के आरोपियों को सजा मिलनी ही चाहिए। उन्होंने कहा कि किसी भी स्तर पर लापरवाही करने वालों को सजा दी जानी चाहिए। एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में ईरानी राष्ट्रपति ने कहा कि जो सजा का भागी है उसे सजा मिलनी ही चाहिए। मिसाइल हमले में यूक्रेन के यात्री विमान गिराए जाने के मामले में ईरान ने कार्रवाई करना शुरू कर दिया है। ईरान की न्यायपालिका ने बताया है कि इस मामले में कुछ गिरफ्तारियां की गई हैं। समाचार एजेंसी एपी के हवाले से बताया गया कि गत आठ जनवरी को ईरान ने गलती से अपनी मिसाइल से तेहरान से उड़ान भरने वाले यूक्रेनी विमान को मार गिराया था। इसमें 176 लोगों की मौत हो गई थी। ईरान के राष्ट्रपति ने कहा है कि मामले की जांच के लिए विशेष अदालत का गठन किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि न्यायपालिक को बड़े जजों की एक स्पेशल कोर्ट बनानी चाहिए जिसमें बड़ी संख्या में विशेषज्ञ हों। बता दें कि बीते बुधवार को तेहरान ने यूक्रेन एयरलाइन के एक विमान को मिशाइन से गिरा दिया थे। इस दुर्घटना में 176 यात्रियों की मौत हो गई थी। हालांकि ईरान ने पहले कई दिनों तक अमेरिकी खुफिया जानकारी के आधार पर पश्चिमी दावों का खंडन किया कि मिसाइल के जरिए उसने ही यूक्रेन का विमान गिराया था। उधर यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की ने शनिवार को मांग की कि ईरान यूक्रेनी एयरलाइनर को गिराने के लिए जिम्मेदार लोगों को दंडित करे और इसके लिए मुआवजे का भुगतान करे। उन्होंने कहा कि हम उम्मीद करते हैं कि ईरान आरोपियों को ढूंढ निकाले। उन्होंने अपने फेसबुक वॉल पर लिखा कि नुकसान के मुआवजे का भुगतान भी किया जाए। बता दें कि तेहरान ने शनिवार को स्वीकार किया था कि उसने बुधवार को भूल से यूक्रेन इंटरनेश्नल एयरलाइन के हवाईजहाज को गिरा दिया है। जिसके कारण विमान में बैठे सभी 176 लोगों की मौत हो गई। इराक में अमेरिकी बलों की मेजबानी करने वाले ठिकानों पर मिसाइलों के प्रक्षेपण के दौरान ये भूल हुई। उन्होंने लिखा कि हमें उम्मीद है कि जांच बिना किसी देरी के और बिना किसी बाधा के आगे बढ़ाई जाएगी। उन्होंने 45 यूक्रेनी विशेषज्ञों की पूरी जांच तक पहुंच का आग्रह किया। ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी ने शनिवार को कहा था कि तेहरान को "इस विनाशकारी गलती का गहरा अफसोस है।