1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. हाथरस केस: जातीय हिंसा के लिए बनाई गई वेबसाइड की जांच करेगी ईडी, विदेशी फंडिंग पर नजर

हाथरस केस: जातीय हिंसा के लिए बनाई गई वेबसाइड की जांच करेगी ईडी, विदेशी फंडिंग पर नजर

Hathras Case Ed Will Investigate Web Sites For Ethnic Violence Look At Foreign Funding

By शिव मौर्या 
Updated Date

हाथरस। हाथरस केस के बाद प्रदेश में जातीय हिंसा भड़काने के लिए बनाई गई वेबसाइड की जांच अब ईडी करेगी। आशंका जताई जा रही है कि पीड़िता के परिजनों के नाम पर वेबसाइड के जरिए काफी धन एकत्र किए गए हैं। ऐसे में जो पैसे आए वह कहां-कहां गए, इसका पता प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) भी लगा रहा है।

पढ़ें :- बीमार मां से मिलने के लिए पत्रकार सिद्दीक कप्पन को मिली 5 दिन की अंतरिम जमानत, मीडिया से बातचीत करने पर रोक

प्रवर्तन निदेशालय के संयुक्त निदेशक राजेश्वर सिंह ने बताया कि इस मामले में हाथरस में सोमवार को धारा153 ए के तहत जो मुकदमा कायम किया गया है जो प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) के अंतर्गत अधिसूचित अपराध है। इसके तहत अपराध करने के उद्देश्य से जितना पैसा एकत्र किया गया है उसे जब्त किया जा सकता है।

आरोपी को गिरफ्तार किया जा सकता है, उस पर केस चल सकता है और सात साल की सजा हो सकी है। उन्होंने बताया कि इस एफआईआर का परीक्षण किया जा रहा है। वेबसाइट की जांच भी की जा रही है कि इसका डोमेन किसने खरीदा, किस मेल आईडी, फोन नंबर का इस्तेमाल किया गया? कितना पैसा इस वेबसाइट के माध्यम से आया और कहां-कहां गया? इसकी पूरी पड़ताल की जाएगी।

इस डोमेन के लिए विदेशी सर्वर का इस्तेमाल किया गया है। उक्त सर्वर व सर्विस प्रोवाइडर से भी पूरी जानकारी ली जाएगी। उक्त डोमेन के आईपी ट्रैफिक का भी पता लगाया जाएगा ताकि पता चल सके कि इस वेबसाइट को कहां-कहां से ऑपरेट किया गया है।

 

पढ़ें :- हाथरस केसः CBI ने कोर्ट में दाखिल किया आरोप पत्र, पीड़िता के आखिरी बयान को बनाया आधार

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...