1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. हाथरस केस: आखिर देर रात क्यों जलाना पड़ा पीड़िता का शव, यूपी सरकार ने सुप्रीम को बताई वजह

हाथरस केस: आखिर देर रात क्यों जलाना पड़ा पीड़िता का शव, यूपी सरकार ने सुप्रीम को बताई वजह

Hathras Case Why The Victims Body Was Burnt Late Last Night Up Government Gave Reason To Supreme

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। हाथरस केस को लेकर सियासत गर्म है। सभी राजनीतिक पार्टियां अपनी अपनी राजनीति इस केस के जरिए चमकाने की कोशिश में जुटी हैं। वहीं, इस बीच हाथरस केस की पीड़िता के शव को रात में अंतिम संस्कार करने पर यूपी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में एफिडेविट दाखिल किया है। सरकार ने दावा किया है कि वे चाहते हैं कि सुप्रीम कोर्ट सीबीआई जांच की निगरानी करे।

पढ़ें :- शिवसेना से जान का खतरा केस मुंबई से शिमला ट्रांसफर किया जाए, सुप्रीम कोर्ट में लगाई Kangana ने गुहार

सरकार ने यह भी दावा किया कि परिवार के सदस्य भविष्य में हिंसा के आसार देखते हुए आधी रात में अंतिम संस्कार के लिए सहमत हुए और यह कानून और व्यवस्था की स्थिति को बनाए रखने के लिए किया गया। इसके साथ ही यूपी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में बताया कि, ‘पीड़िता ने पुलिस को दिए अपने बयान में बलात्कार का जिक्र नहीं किया।

उसने अपने दूसरे बयान में बलात्कार का आरोप लगाया और सभी चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया। बता दें अदालत इस मामले की सुनवाई आज होगी। बता दें कि, इस हलफनामे में सरकार का कहना है कि 14 सितंबर को पुलिस को सूचना मिलने पर पुलिस ने मामला दर्ज करके तत्काल कदम उठाया।

सरकार ने कहा कि इस मुद्दे का उपयोग करते हुए जाति और सांप्रदायिक दंगों को भड़काने के लिए राजनीतिक दलों के कुछ वर्ग, सोशल मीडिया, कुछ वर्गों के प्रिंट और इलेक्ट्रानिक मीडिया ने जानबूझकर और सुनियोजित प्रयास किए। यूपी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि हाथरस में लड़की के साथ कथित बलात्कार और हमले की सीबीआई जांच के निर्देश देने चाहिए। यूपी सरकार ने कहा कि हालांकि वो मामले की निष्पक्ष जांच कर सकती है लेकिन “निहित स्वार्थ” निष्पक्ष जांच को पटरी से उतारने के मकसद से प्रयास कर रहे हैं।

 

पढ़ें :- UPSC उम्मीदवारों को सुप्रीम कोर्ट से झटका, सिविल सेवा परीक्षा में नहीं मिलेगा अतिरिक्त मौका

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...