1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. हाथरस गैंगरेप पीड़िता ने उपचार के दौरान विवेचक के सामने कई बार बदले बयान, मेडिकल रिपोर्ट में रेप की पुष्टि नहीं : पुलिस

हाथरस गैंगरेप पीड़िता ने उपचार के दौरान विवेचक के सामने कई बार बदले बयान, मेडिकल रिपोर्ट में रेप की पुष्टि नहीं : पुलिस

Hathras Gang Rape Victim Changed Statements Several Times In Front Of Counsel During Treatment No Confirmation Of Rape In Medical Report Police

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

हाथरस: हाथरस गैंगरेप पीड़िता ने उपचार के दौरान विवेचक के सामने कई बार अपने बयान बदले थे। इसका विवेचक की रिपोर्ट में उल्लेख किया गया है। पीड़िता के अलग-अलग तिथियों में लिए गए बयान में अलग-अलग बातें सामने आई हैं। इतना ही नहीं, मेडिकल रिपोर्ट में रेप की पुष्टि नहीं हो पाई है।

पढ़ें :- यूपी उपचुनाव: प्रचार अंतिम चरण में, प्रचार से नदारद विपक्षी दिग्गज, सीएम योगी सुपरएक्टिव

उपचार के दौरान युवती के तीन बार बयान हुए। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, पहली बार में युवती ने रेप से जुड़ा कोई बयान नहीं दिया था। उसके बाद 19 सितंबर को बयान हुए, जिसमें कहा कि मेरे साथ छेड़छाड़ हुई है। बयान के आधार पर पुलिस ने धारा बदलकर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी थी। उसके बाद 22 सितंबर को बयान दर्ज हुए। जिसमें पीड़िता ने कहा था कि उसके साथ रेप हुआ है। नए बयान के आधार पर पुलिस ने आगे की कार्रवाई शुरू कर आरोपियों को गिरफ्तार किया था। मेडिकल रिपोर्ट पर गौर करें तो उसमें युवती के साथ रेप की पुष्टि नहीं हुई है।

घटना के अनुसार, 14 सितंबर की सुबह गांव चंदपा की युवती अपनी मां के साथ खेत पर गई थी। वह खेत में घास काट रही थी। इसी बीच संदीप नाम का एक युवक वहां आ धमका और छेड़छाड़ करने लगा। युवती ने विरोध किया तो हमला बोल दिया। युवती के चिल्लाने पर युवती की मां आरोपी की तरफ दौड़ पड़ी। इतने में आरोपी मौका पाकर फरार हो गया था। घायल युवती को आनन-फानन में अस्पताल ले जाया गया।

युवती के भाई ने करीब 10:30 बजे थाने पहुंचकर बताया कि उसकी बहन का गला दबाकर मारने का प्रयास किया गया। मामले में एफआईआर दर्ज हुई। युवती की गंभीर हालत को देखते हुए उसको एएमयू के जेएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया। यहां चिकित्सकों ने देखा कि युवती की कमर की एक हड्डी टूटी है। इतना ही नहीं, दोनों पैर भी सही से काम नहीं कर रहे थे।

हाथरस निवासी युवती की मेडिकल रिपोर्ट में रेप की पुष्टि नहीं हुई है। मेडिकल कॉलेज में उपचार के दौरान युवती के तीन बार बयान हुए। युवती ने पहले मारपीट, फिर छेड़छाड़ व उसके बार रेप होने की बात कही थी। युवती के बयान व अन्य बिंदुओं के आधार पर प्रकरण की जांच चल रही है। – पीयूष मोर्डिया, आईजी, अलीगढ़

पढ़ें :- परिवारवाद के साथ दबंग नीति से चलती थी पिछली सरकारें : केशव

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...