1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. सोमवार को करें भगवान शिव के दर्शन और शिव चालीसा का पाठ, ऊर्जा से रहेंगे लबालब

सोमवार को करें भगवान शिव के दर्शन और शिव चालीसा का पाठ, ऊर्जा से रहेंगे लबालब

सोमवार भगवान शिव को समर्पित है। सोम यानी चंद्रमा का दिन। इसी के नाम से सप्ताह के शुरुआती दिन को सोमवार भी कहा जाता है। सोम को अमृत कहा जाता है क्योंकि वह कभी नष्ट नहीं होता अर्थात सोम ऊर्जा है।

By अनूप कुमार 
Updated Date

Have Darshan Of Lord Shiva And Recite Shiv Chalisa On Monday Will Be Full Of Energy

लखनऊ: सोमवार भगवान शिव को समर्पित है। सोम यानी चंद्रमा का दिन। इसी के नाम से सप्ताह के शुरुआती दिन को सोमवार भी कहा जाता है। सोम को अमृत कहा जाता है क्योंकि वह कभी नष्ट नहीं होता अर्थात सोम ऊर्जा है। इस दिन सुबह उठकर आप भगवान शिव के दर्शन कर शिव चालीसा या शिवाष्टक का पाठ कर सकते हैं। इससे भगवान शिव जल्दी प्रसन्न होते हैं और आपकी समस्याएं अपने आप हल होती जाती हैं।

पढ़ें :- सबरीमाला मंदिर 5 दिन के लिए खुला, अगर करना है भगवान अयप्पा के दर्शन तो माननी पड़ेंगी ये हैं शर्तें

श्रावण मास में पड़ने वाले सोमवार को अत्यंत मंगलकारी माना गया है। गौरतलब है कि सोमवार के दिन भगवान शिव की पूजा का विशेष विधान है। सुबह बेलपत्र (बिल्व) पर सफेद चंदन की बिंदी लगाकर मनोरथ बोलकर शिवलिंग पर अर्पित करें। सोमवार के दिन सुबह किसी शिव मंदिर में जाकर शिवलिंग पर दूध चढ़ाएं। यह दूध किसी तांबे के बर्तन में लाकर अपने व्यवसाय स्थल में पूर्ण श्रद्धा के साथ छिड़क दें और ‘ॐ नम: शिवाय:’ का जप करते रहें। आपके व्यवसाय में वृद्धि होगी।

महामृत्युंजय मंत्र

ऊँ हौं जूं स: ऊँ भुर्भव: स्व: ऊँ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्.
ऊर्वारुकमिव बन्धनान्मृत्योर्मुक्षीय मामृतात् ऊँ भुव: भू: स्व: ऊँ स: जूं हौं ऊँ.

शिव मंत्र- ऊँ नम: शिवाय.

पढ़ें :- कोविड की निगेटिव रिपोर्ट दिखाने पर ही मिलेंगे मां वैष्णो देवी के दर्शन

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X