1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. यूपी, बिहार, पंजाब, हरियाणा समेत उत्तर भारतीय राज्यों में प्रदूषण का खतरनाक स्तर, लोगों को घरों में रहने की सलाह

यूपी, बिहार, पंजाब, हरियाणा समेत उत्तर भारतीय राज्यों में प्रदूषण का खतरनाक स्तर, लोगों को घरों में रहने की सलाह

Hazardous Levels Of Pollution In North Indian States Including Up Bihar Punjab Haryana Advising People To Stay Indoors

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

नई दिल्ली: देश के उत्तरी राज्य में लगातार बढ़ते वायु प्रदूषण से लोग परेशान हैं। घर से बाहर निकलते ही लोगों को आखों में जलन हो रही है। बढ़ते वायु प्रदूषण के चलते लोगों का दम घुट रहा है। लगातार दूषित हो रही हवा से घर से लोगों कोा घर से बाहर निकलना मुश्किल होता जा रहा है। यही नहीं वायू प्रदूषण इस वक्त देश के कई राज्यों में धुंध छाई हुई है। प्रत्येक दिन दिल्ली-एनसीआर की हवा जहरीली होती जा रही है। एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआइ) भी गंभीर श्रेणी में पहुंच गया है।

पढ़ें :- योगी सरकार में एके शर्मा का चलेगा सिक्का, एमएलसी के बाद बन सकते हैं डिप्टी सीएम

प्रत्येक वर्ष दिवाली आने से पहले प्रदूषण का स्तर बढ़ जाता है। इस साल भी प्रदूषण में कोई भी सुधार नजर नहीं आ रहा है। लोगों को लगातर घर पर रहने की हिदायत दी जा रही है। पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों में पराली जलाने से लोगों की सेहत पर असर पड़ रहा है। देश के उत्तरी राज्य में लगातार लोग घर से बाहर निकलने से परहेज कर रहे हैं। तो आइये जानते हैं कि इन राज्यों में वायु गुणवत्ता स्तर की ताजा स्थिति क्या है।

दिल्ली-एनसीआर में वायु गुणवत्ता स्तर 470 तक पहुंच गया है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के ताजा डाटा के मुताबिक, प्रदूषण से और ज्यादा गंभीर हालात हो गए हैं। सीपीसीबी के मुताबिक, दिल्ली के आनंद विहार इलाके में वायु गुणवत्ता स्तर 484, पश्चिमी दिल्ली के मुंडका इलाके में 470 पहुंच गया है। इसके साथ ही ओखला फेज-2 में AQI 465 तो वजीरपुर में 468 तक पहुंच गया है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक, दीपावली से पहले हालात और भी खराब होने की आंशका है। विशेषज्ञों के मुताबिक, दिल्ली-एनसीआर में वायु गुणवत्ता स्तर में इजाफे की वजह केवल पराली जलाने के साथ-साथ स्थानीय कारक भी जिम्मेदार बताए जा रहे हैं।

यूपी के हाथरस शहर में लगातार धुंध (स्मॉग) बढ़ने से एयर क्वालिटी इंडेक्स भी बढ़ रहा है। पिछले 48 घंटे में AQI 51 प्वाइंट बढ़ गया है। लगातार मीडिया रिपोर्ट में बताया जा रहा है कि उत्तर भारत में पराली जलने के साथ स्थानीय स्तर पर वाहनों और उद्योगों से होने वाले प्रदूषण से हालात बिगड़ रहे हैं। कहा जा रहा है कि यही हालात रहे तो दिवाली तक सांस लेना मुश्किल हो सकता है।

इसके साथ ही यूपी के बागपत में भी वायु प्रदूषण में कोई सुधार नहीं आ रहा है। यहां पर एक्यूआइ 391 तक पहुंच गया है। वायु प्रदूषण के कारण बागपत में धुंध की चादर छाई हुई है। देश में वायु प्रदूषण के लिहाज से टॉप पर चल रहा है। ताजनगरी में भी दुषित हवा ने लोगों को घर से बाहर निकलना मुश्किल कर दिया है। लगातार यहां की हवा जहरीली होती जा रही है। यहां पर एक्‍यूआइ स्तर 400 के पार पहुंच गया है।

पढ़ें :- हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष का दावा-सत्ताधारी कई विधायक हमारे संपर्क में, सीएम खट्टर ने किया पलटवार

देश के कई राज्यों में पराली जलाने के चलते वायु प्रदूषण विकराल रुप लेता जा रहा है। हरियाणा की जींद में हवा सबसे अधिक खराब दर्ज की गई है। यहां पर वायु गुणवत्ता सूचकांक 444 तक पहुंच गया है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...