गुड़गांव: हेड कांस्टेबल ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

गुड़गांव: साइबर सिटी गुड़गांव में 35 वर्षीय हेड कांस्टेबल ने सिविल लाइन्स स्थित अपने सरकारी आवास पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। फिलहाल आत्महत्या के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।




मृतक हेड कांस्टेबल का नाम मालिक राम था। उसका निवास स्थान झज्जर के सुर्जूपुर में था और उसकी पोस्टिंग गुडगाँव के थाना क्षेत्र में थी। बुधवार को मालिक राम अपने घर पर अकेले थे उसकी पत्नी अपने दोनों बच्चों के साथ मायके गयी हुई थी। गुरूवार को जब पत्नी अपने बच्चों के साथ घर वापस आई तब कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था। कई बार बेल बजाने के बाद भी जब पति ने दरवाजा नहीं खोला तब उसे किसी अनहोनी की आशंका हुई। उसने खिडकी के सहारे से अन्दर झांका तो उसके पैरों तले से जमीन खिसक गयी। मालिक राम की लाश पंखे से लटकी हुई थी। उनकी मौत की खबर सुनकर मोहल्ले में हडकंप मच गया। आनन-फानन में दरवाजा तोड़ा गया।

Head Constable Commit Suicide In Gurgaon :

मालिक राम को अस्पताल ले जाया गया जहां डाक्टरों ने उन्हें तुरंत मृत घोषित कार दिया। पुलिस के सहायक आयुक्त और गुड़गांव पुलिस के जनसंपर्क अधिकारी महेन्द्र वर्मा ने कहा, परिवार और स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों को लेकर पिछले कुछ दिनों से मालिक राम अवसादग्रस्त था। उन्होंने कहा कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है ताकि पता लगाया जा सके कि यह हत्या है या आत्महत्या। मौके से कोई सुसाइड नोट नहीं बरामद हुआ है।
आस्था सिंह की रिपोर्ट

गुड़गांव: साइबर सिटी गुड़गांव में 35 वर्षीय हेड कांस्टेबल ने सिविल लाइन्स स्थित अपने सरकारी आवास पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। फिलहाल आत्महत्या के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। मृतक हेड कांस्टेबल का नाम मालिक राम था। उसका निवास स्थान झज्जर के सुर्जूपुर में था और उसकी पोस्टिंग गुडगाँव के थाना क्षेत्र में थी। बुधवार को मालिक राम अपने घर पर अकेले थे उसकी पत्नी अपने दोनों बच्चों के साथ मायके गयी हुई थी। गुरूवार को जब पत्नी अपने बच्चों के साथ घर वापस आई तब कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था। कई बार बेल बजाने के बाद भी जब पति ने दरवाजा नहीं खोला तब उसे किसी अनहोनी की आशंका हुई। उसने खिडकी के सहारे से अन्दर झांका तो उसके पैरों तले से जमीन खिसक गयी। मालिक राम की लाश पंखे से लटकी हुई थी। उनकी मौत की खबर सुनकर मोहल्ले में हडकंप मच गया। आनन-फानन में दरवाजा तोड़ा गया। मालिक राम को अस्पताल ले जाया गया जहां डाक्टरों ने उन्हें तुरंत मृत घोषित कार दिया। पुलिस के सहायक आयुक्त और गुड़गांव पुलिस के जनसंपर्क अधिकारी महेन्द्र वर्मा ने कहा, परिवार और स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों को लेकर पिछले कुछ दिनों से मालिक राम अवसादग्रस्त था। उन्होंने कहा कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है ताकि पता लगाया जा सके कि यह हत्या है या आत्महत्या। मौके से कोई सुसाइड नोट नहीं बरामद हुआ है। आस्था सिंह की रिपोर्ट