तुलसी के सेवन से होंगे ये अनोखे फायदे

तुलसी के सेवन से होंगे ये अनोखे फायदे
तुलसी के सेवन से होंगे ये अनोखे फायदे

लखनऊ। तुलसी का पौधा पवित्र होने के साथ-साथ औषधिय गुणों से भरपूर है, इसलिए आयुर्वेद में प्राचीन काल से ही तुलसी के पत्तों का इस्तेमाल कई तरह के रोगों के उपचार के लिए भी किया जाता रहा है। आइए जानते हैं तुलसी के सेवन से होने वाले अनोखे फ़ायदों के बारे में….

Health Benefits Of Eating Tulsi Leaves :

तुलसी के सेवन से होंगे ये फायदे

  • तुलसी को अदरक, मुलैठी और शहद के साथ खाया जाए तो बुखार में आराम मिलता है। इसके साथ ही मासिक धर्म के दौरान कमर में दर्द के दर्द को दूर करने के लिए एक चम्मच तुलसी का रस लें और मासिक धर्म नियमित हो इसके लिए भी तुलसी के पत्ते चबाने चाहिए।
  • बारिश के मौसम में रोजाना तुलसी के पांच पत्ते खाने से बुखार व जुकाम नहीं होता है।
  • तुलसी की कुछ पत्तियों को चबाने से मुंह के छाले दूर सही हो जाते हैं और आपके दांत भी स्वस्थ रहते हैं।
  • तुलसी खाने से दाद, खुजली और त्वचा की अन्य समस्याओं से कुछ ही दिनों में यह रोग दूर हो जाता है।
  • रोज़ाना तुलसी की पत्तियां खाने से दमा और टीबी की बीमारी नहीं होती है। सांस की दु्र्गंध को दूर करने में भी तुलसी के पत्ते काफी फायदेमंद होते हैं।
  • तुलसी की मात्र 11 पत्तियों का 4 खड़ी काली मिर्च के साथ सेवन करके मलेरिया और टाइफाइड को ठीक किया जा सकता है।
  • तुलसी के आस-पास रहने वाले लोगों को कुष्ठ रोग होने की संभावना नही रहती है।
  • तुलसी का काढ़ा पीने से पुराने से पुराने माइग्रेन और साइनस को खत्म किया जा सकता है।
  • श्यामा तुलसी के पत्तों का रस आंखों में डालने से रतौंधी ठीक हो जाती है।
  • गठिया के दर्द में तुलसी की जड़, पत्ती, डंठल, फल और बीज में गुड़ मिलाकर 12-12 ग्राम की गोलियां बना लें और सुबह-शाम दूध के साथ इसका सेवन करने से गठिया व जोड़ों के दर्द में लाभ होता है।
  • किडनी की पथरी में तुलसी की पत्तियों को उबालकर बनाए गए जूस को शहद के साथ रोज़ाना 6 महीनों तक पीने से पथरी खत्म होकर खुद ही मलाशय के स्थान से बाहर निकल जाती है।
  • तुलसी के 10 पत्ते, 5 काली मिर्च और 4 बादाम को पीसकर आधा गिलास पानी में एक चम्मच शहद के साथ लेने से हाई ब्लड प्रेशर ठीक रहता है।
  • तुलसी के पत्तों को जीरे के साथ मिलाकर पीस लें और उसे दिन में 3-4 बार चाटते रहें ऐसा करने से दस्त रुक जाते है।
लखनऊ। तुलसी का पौधा पवित्र होने के साथ-साथ औषधिय गुणों से भरपूर है, इसलिए आयुर्वेद में प्राचीन काल से ही तुलसी के पत्तों का इस्तेमाल कई तरह के रोगों के उपचार के लिए भी किया जाता रहा है। आइए जानते हैं तुलसी के सेवन से होने वाले अनोखे फ़ायदों के बारे में.... तुलसी के सेवन से होंगे ये फायदे
  • तुलसी को अदरक, मुलैठी और शहद के साथ खाया जाए तो बुखार में आराम मिलता है। इसके साथ ही मासिक धर्म के दौरान कमर में दर्द के दर्द को दूर करने के लिए एक चम्मच तुलसी का रस लें और मासिक धर्म नियमित हो इसके लिए भी तुलसी के पत्ते चबाने चाहिए।
  • बारिश के मौसम में रोजाना तुलसी के पांच पत्ते खाने से बुखार व जुकाम नहीं होता है।
  • तुलसी की कुछ पत्तियों को चबाने से मुंह के छाले दूर सही हो जाते हैं और आपके दांत भी स्वस्थ रहते हैं।
  • तुलसी खाने से दाद, खुजली और त्वचा की अन्य समस्याओं से कुछ ही दिनों में यह रोग दूर हो जाता है।
  • रोज़ाना तुलसी की पत्तियां खाने से दमा और टीबी की बीमारी नहीं होती है। सांस की दु्र्गंध को दूर करने में भी तुलसी के पत्ते काफी फायदेमंद होते हैं।
  • तुलसी की मात्र 11 पत्तियों का 4 खड़ी काली मिर्च के साथ सेवन करके मलेरिया और टाइफाइड को ठीक किया जा सकता है।
  • तुलसी के आस-पास रहने वाले लोगों को कुष्ठ रोग होने की संभावना नही रहती है।
  • तुलसी का काढ़ा पीने से पुराने से पुराने माइग्रेन और साइनस को खत्म किया जा सकता है।
  • श्यामा तुलसी के पत्तों का रस आंखों में डालने से रतौंधी ठीक हो जाती है।
  • गठिया के दर्द में तुलसी की जड़, पत्ती, डंठल, फल और बीज में गुड़ मिलाकर 12-12 ग्राम की गोलियां बना लें और सुबह-शाम दूध के साथ इसका सेवन करने से गठिया व जोड़ों के दर्द में लाभ होता है।
  • किडनी की पथरी में तुलसी की पत्तियों को उबालकर बनाए गए जूस को शहद के साथ रोज़ाना 6 महीनों तक पीने से पथरी खत्म होकर खुद ही मलाशय के स्थान से बाहर निकल जाती है।
  • तुलसी के 10 पत्ते, 5 काली मिर्च और 4 बादाम को पीसकर आधा गिलास पानी में एक चम्मच शहद के साथ लेने से हाई ब्लड प्रेशर ठीक रहता है।
  • तुलसी के पत्तों को जीरे के साथ मिलाकर पीस लें और उसे दिन में 3-4 बार चाटते रहें ऐसा करने से दस्त रुक जाते है।