1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. कोरोना मरीजों के सरकारी अस्पतालों में भर्ती न हो पाने की शिकायतों पर स्वास्थ्य विभाग ने उठाया कदम

कोरोना मरीजों के सरकारी अस्पतालों में भर्ती न हो पाने की शिकायतों पर स्वास्थ्य विभाग ने उठाया कदम

By आराधना शर्मा 
Updated Date

लखनऊ: कोरोना मरीजों के सरकारी अस्पतालों में भर्ती न हो पाने की लगातार आ रही शिकायतों पर स्वास्थ्य विभाग ने ध्यान दिया है। विभाग ने एक हेल्पलाइन नंबर (0522- 2217044) जारी किया है जिसपर कोई भी व्यक्ति अपने कोविड लक्षण वाले मरीज के एडमिट न होने पर शिकायत कर सकता है। इस हेल्पलाइन नंबर पर एक अधिकारी मौजूद रहेगा जो उनकी कॉल एटेंड करेगा।

अपर मुख्य सचिव- स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने मंगलवार को बताया कि प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में उचित संख्या में कोविड बेड मौजूद हैं। उसके बावजूद विभिन्न इलाकों से कोविड मरीजों को भर्ती न किए जाने की शिकायतें मिल रही थीं। इसी के मद्देजर यह हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है। उन्होंने कहा कि इस हेल्पलाइन नंबर पर एक निरंतर एक अधिकारी मौजूद रहेगा जो लोगों की समस्याएं सुनेगा। यह हेल्पलाइन समस्त प्रदेशवासियों के लिए है।

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने बताया कि राज्य में अब तक 39,66,848 कोरोना नमूनों की जांच हो चुकी है। जो किसी भी प्रदेश द्वारा की गई जांच में सर्वाधिक है। इसके बावजूद मुख्यमंत्री ने प्रदेश की जनसंख्या को देखते हुए टेस्टिंग को बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। कहा गया है कि प्रदेश में रोज 75,000  से 80,000 रैपिड एंटीजन टेस्ट और 40,000 से 50,000 आरटी-पीसीआर टेस्ट किए जाएं। इस प्रकार प्रदेश में रोजाना 1,25,000 टेस्ट की व्यवस्था हो सकती है।

ई-संजीवनी ऐप से 31,690 लोगों ने उठाया लाभ

अपर मुख्य सचिव- स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद के मुताबिक ई-संजीवनी पोर्टल से प्रदेश के लोग लगातार घर बैठे डॉक्टरों से सलाह ले रहे हैं। सोमवार को 1,720 लोगों ने इस सुविधा का लाभ उठाया। इस महीने में अब तक 31,690 लोगों को इससे लाभ मिला है।

प्रदेश में 62,433 कोविड हेल्पडेस्क स्थापित

प्रदेश में कुल 62,433 ‘कोविड हेल्पडेस्क’ बनाई जा चुकी हैं। इनके जरिए 6,58,067 से ज्यादा लक्षणात्मक लोगों की पहचान की गई। इनमें ऑक्सीमीटर और थर्मामीटर उपलब्ध हैं। इन सभी इकाइयों में सैनिटाइजर की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की गई है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...