1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. पेगासस मामले पर सुप्रीम कोर्ट में हुई सुनवाई, CJI बोले-अगर रिपोर्ट सही तो आरोप गंभीर, अब मंगलवार को होगी सुनवाई

पेगासस मामले पर सुप्रीम कोर्ट में हुई सुनवाई, CJI बोले-अगर रिपोर्ट सही तो आरोप गंभीर, अब मंगलवार को होगी सुनवाई

पेगासस जासूसी कांड (Pegasus Detective Scandal) को लेकर देशभर में विपक्ष हंगामा कर रहा है। विपक्ष इस मामले में मोदी सरकार (Modi government) को घेरने में जुटा है। वहीं, पेगासस मामले (Pegasus case) पर आज सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में सुनवाई हुई। सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के चीफ जस्टिस (chief Justice) ने याचिकाकर्ताओं की दलील सुनने के बाद कहा कि अगर ये रिपोर्ट सही है तो आरोप गंभीर है। इस दौरान कोर्ट ने कहा कि अगर खबरें सही हैं तो आरोप बेहद गंभीर हैं।

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। पेगासस जासूसी कांड (Pegasus Detective Scandal) को लेकर देशभर में विपक्ष हंगामा कर रहा है। विपक्ष इस मामले में मोदी सरकार (Modi government) को घेरने में जुटा है। वहीं, पेगासस मामले (Pegasus case) पर आज सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में सुनवाई हुई। सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के चीफ जस्टिस (chief Justice) ने याचिकाकर्ताओं की दलील सुनने के बाद कहा कि अगर ये रिपोर्ट सही है तो आरोप गंभीर है। इस दौरान कोर्ट ने कहा कि अगर खबरें सही हैं तो आरोप बेहद गंभीर हैं।

पढ़ें :- Tikuniya violence : आशीष मिश्रा समेत 13 आरोपियों पर चलेगा किसानों की हत्या का केस

कोर्ट ने याचिकाकर्ताओं के वकील से ये भी पूछा कि क्या आपके पास जासूसी का कोई सबूत है? इसपर वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) ने मना कर दिया। वहीं, ​कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) ने मामले को गंभीर बताते हुए सीजेआई  (CJI) से गुहार लगाई कि केंद्र सरकार को नोटिस जारी किया जाए। वहीं, मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) मामले की सुनवाई करेगा।

बता दें कि, पेगासस जासूसी मामले (Pegasus spy case) को लेकर देशभर में हंगामा मचा हुआ है। विपक्ष इस मुद्दे को लेकर संसद में भी हंगामा कर रहा है। वहीं, सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में पेगासस मामले (Pegasus case) को लेकर दायर की गई विभिन्न याचिकाओं में कोर्ट कि निगरानी में एसआईटी जांच (SIT investigation) की मांग की गई है।

इनमें राजनेता, एक्टिविस्ट, एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया और वरिष्ठ पत्रकारों एन. राम और शशि कुमार द्वारा दी गई अर्जियां भी शामिल हैं। प्रधान न्यायाधीश एन. वी. रमण और न्यायमूर्ति सूर्यकांत की पीठ इसकी सुनवाई कर रही है।

गौरतलब है कि, विपक्ष का आरोप है कि पेगासस के जरिए सरकार ने विपक्ष के नेता, पत्रकार, मोदी सरकार के कई मंत्री समेत अन्य लोगों का फोन टेप किया है। इस मुद्दे को लेकर विपक्ष सरकार को घेरने में जुटा हुआ है।

पढ़ें :- Lakhimpur Khiri Case : आशीष मिश्रा पर चलेगा मुकदमा, नाम हटाने की अपील खारिज

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...