युवाओं के लिये आलिया बनी आदर्श, ऐसे संवारी 40 परिवारों की जिंदगी

आलिया भट्ट,alia bhatt
युवाओं के लिये आलिया बनी आदर्श, ऐसे संवारी 40 परिवारों की जिंदगी

मुंबई। बॉलिवुड ऐक्ट्रेस आलिया भट्ट ने अभी हल ही में एक ऐसा काम किया है जिससे वो युवाओं के लिए एक सच्ची आदर्श बन गयी हैं। दरअसल बीते कुछ महीने पहले आलिया ने अपने वॉरड्रोब से अपनी कुछ पसंदीदा चीजों की नीलामी करने का फैसला लिया था और अब उनके इस कदम से 40 परिवारों की जिंदगी संवर गयी है।

Heres How Alia Bhatt Helped 40 Rural Indian Families :

आलिया की फैन फॉलोइंग तो वैसे भी ज़बरदस्त है, लेकिन इस नेक काम के बाद उनके फॉलोअर्स और भी बढ़ जाएंगी। बता दें कि नीलामी से मिले पैसों को एक चैरिटी संस्था को जाता है, जो खराब प्लास्टिक की बोतलों को रीसाइकल कर उन लोगों को सौर ऊर्जा उपलब्ध कराने का काम करती है, जिन्हें बिजली नहीं मिल पाती। आलिया के इस नेक काम की वजह से 40 परिवार रोशन हुए हैं। आलिया द्वारा नीलाम किए गए कपड़ो और बाकी सामान से जो भी पैसे इकट्ठा हुए, उन्हें हाल ही में कर्नाटक के मंड्या जिले के किकेरी गांव के 40 परिवारों को बिजली देने के लिए इस्तेमाल किया गया।

बिजली की इस परेशानी के बारे में आलिया ने कहा, ‘भारत में अभी भी कई ऐसे परिवार हैं, जो अंधकार में डूबे हैं, और Liter Of Light की इको-फ्रेंडली सोलर लैंप्स ऐसे घरों को रोशन करने का सबसे नायाब और अच्छा तरीका है। इस प्रॉजेक्ट के ज़रिए किकेरी गांव के करीब 200 परिवारों को बिजली उपलब्ध कराने की योजना है और मेरे वॉरड्रोब वाले कैंपेन के तहत हम ऐसी ही कई और संस्थाओं के साथ काम करने की प्लानिंग कर रहे हैं, ताकि ज़्यादा से ज़्यादा लोगों का भविष्य सुधार सकें।’

मुंबई। बॉलिवुड ऐक्ट्रेस आलिया भट्ट ने अभी हल ही में एक ऐसा काम किया है जिससे वो युवाओं के लिए एक सच्ची आदर्श बन गयी हैं। दरअसल बीते कुछ महीने पहले आलिया ने अपने वॉरड्रोब से अपनी कुछ पसंदीदा चीजों की नीलामी करने का फैसला लिया था और अब उनके इस कदम से 40 परिवारों की जिंदगी संवर गयी है।आलिया की फैन फॉलोइंग तो वैसे भी ज़बरदस्त है, लेकिन इस नेक काम के बाद उनके फॉलोअर्स और भी बढ़ जाएंगी। बता दें कि नीलामी से मिले पैसों को एक चैरिटी संस्था को जाता है, जो खराब प्लास्टिक की बोतलों को रीसाइकल कर उन लोगों को सौर ऊर्जा उपलब्ध कराने का काम करती है, जिन्हें बिजली नहीं मिल पाती। आलिया के इस नेक काम की वजह से 40 परिवार रोशन हुए हैं। आलिया द्वारा नीलाम किए गए कपड़ो और बाकी सामान से जो भी पैसे इकट्ठा हुए, उन्हें हाल ही में कर्नाटक के मंड्या जिले के किकेरी गांव के 40 परिवारों को बिजली देने के लिए इस्तेमाल किया गया।बिजली की इस परेशानी के बारे में आलिया ने कहा, 'भारत में अभी भी कई ऐसे परिवार हैं, जो अंधकार में डूबे हैं, और Liter Of Light की इको-फ्रेंडली सोलर लैंप्स ऐसे घरों को रोशन करने का सबसे नायाब और अच्छा तरीका है। इस प्रॉजेक्ट के ज़रिए किकेरी गांव के करीब 200 परिवारों को बिजली उपलब्ध कराने की योजना है और मेरे वॉरड्रोब वाले कैंपेन के तहत हम ऐसी ही कई और संस्थाओं के साथ काम करने की प्लानिंग कर रहे हैं, ताकि ज़्यादा से ज़्यादा लोगों का भविष्य सुधार सकें।'