हीरो होते हैं लकीर के फकीर : नवाजुद्दीन सिद्दीकी

हीरो होते हैं लकीर के फकीर : नवाजुद्दीन सिद्दीकी
हीरो होते हैं लकीर के फकीर : नवाजुद्दीन सिद्दीकी

नई दिल्ली। ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ में गैंगस्टर फैजल खान की भूमिका हो या फिर ‘बजरंगी भाईजान’ में मजाकिया पत्रकार का किरदार, अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी अपने हिस्से आए हर चरित्र में जान फूंकने के लिए जाने जाते हैं। वह मानते हैं कि बॉलीवुड के हीरो समय के साथ लकीर के फकीर हो जाते हैं, लेकिन असली अभिनेता ऐसा नहीं करता और उसका काम चलता रहता है।

वर्तमान में बॉलीवुड के सबसे बहुमुखी कलाकारों में से नवाजुद्दीन के साथ एक साक्षात्कार में भारतीय फिल्मों के विकास, थियेटर में दर्शकों की कमी और एक अभिनेता के रूप में अपने तरीकों और इच्छाओं पर बात की। उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि एक अभिनेता के लिए अलग-अलग आयामों के साथ चरित्रों को निभाना महत्वपूर्ण है। मैंने गंभीर फिल्में में कीं, लेकिन मैंने फ्रीकी अली और लंच बॉक्स जैसी फिल्में भी कीं, जो बहुत हल्की-फुल्की थीं।”

{ यह भी पढ़ें:- मिस इंडिया 2018 इवैंट में करीना, जैकलीन और माधुरी दीक्षित ने किया परफॉर्म, देखिये फोटोज़ }

नवाजुद्दीन अपनी आगामी फिल्म में लेखक सआदत हसन मंटो का किरदार निभाएंगे। उनका मानना है कि बॉलीवुड ने सोच पर चोट और विचारों को उत्तेजक करने वाला सिनेमा बनाने के मामले में कुछ खास हासिल नहीं किया है। उन्होंने कहा, “ऐसा नहीं है कि समानांतर या सामग्री आधारित फिल्में, उद्योग के लिए एक नई चीज है। लेकिन मुझे नहीं लगता कि यहां बहुत कुछ बदल गया है।

इससे पहले भी तपन सिन्हा और गौतम घोष जैसे निर्देशकों ने उत्कृष्ट फिल्में बनाई थीं। बॉलीवुड में फिल्म बनाने के मामले में मुझे बहुत अधिक सुधार देखने को नहीं मिला। मुझे लगता है कि हमें अभी भी एक लंबा रास्ता तय करना है।” उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले के बुढ़ाना के रहने वाले नवाजुद्दीन ने कहा कि वह खुश हैं कि उनकी सफलता छोटी पृष्ठभूमि या औसत दिखने वाले वाले कलाकारों को प्रेरित करती है।

{ यह भी पढ़ें:- सलमान, अभिषेक सहित कई बॉलीवुड स्टार का रिश्ता केवल सगाई तक चला }

उन्होंने कहा, “मैंने जो हासिल किया है, उस आधार पर मैं यह दावा नहीं कर सकता कि नई पीढ़ी के लिए फिल्मों में काम करना इतना आसान होगा। लेकिन निश्चित रूप से यह औसत दिखने वाले कलाकारों के बीच आत्मविश्वास भरने वाला होना चाहिए कि अगर कोई नवाज इस इंडस्ट्री में कामयाब हो सकता है तो हम भी हो सकते हैं।”

नई दिल्ली। 'गैंग्स ऑफ वासेपुर' में गैंगस्टर फैजल खान की भूमिका हो या फिर 'बजरंगी भाईजान' में मजाकिया पत्रकार का किरदार, अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी अपने हिस्से आए हर चरित्र में जान फूंकने के लिए जाने जाते हैं। वह मानते हैं कि बॉलीवुड के हीरो समय के साथ लकीर के फकीर हो जाते हैं, लेकिन असली अभिनेता ऐसा नहीं करता और उसका काम चलता रहता है। वर्तमान में बॉलीवुड के सबसे बहुमुखी कलाकारों में से नवाजुद्दीन के साथ एक साक्षात्कार में…
Loading...