1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. हिन्दी दिवस 2021:14 सितंबर को ही हिंदी दिवस क्यों मनाया जाता है? जानिए इसका महत्व

हिन्दी दिवस 2021:14 सितंबर को ही हिंदी दिवस क्यों मनाया जाता है? जानिए इसका महत्व

देशभर में 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाता है। इस दिन हिंदी भाषा की महत्‍वता और उसकी नितांत आवश्‍यकता को याद दिलाया जाता है।

By अनूप कुमार 
Updated Date

हिन्दी दिवस 2021: देशभर में 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाता है। इस दिन हिंदी भाषा की महत्‍वता और उसकी नितांत आवश्‍यकता को याद दिलाया जाता है। सन 1949 में 14 सितंबर के दिन ही हिंदी को राजभाषा का दर्जा मिला था, जिसके बाद से अब तक हर साल यह दिन ‘हिंदी दिवस’ के तौर पर मनाया जाता है। स्वतन्त्रता प्राप्ति के बाद हिन्दी को आधिकारिक भाषा के रूप में स्थापित करवाने के लिए काका कालेलकर, हजारीप्रसाद द्विवेदी, सेठ गोविन्ददास आदि साहित्यकारों को साथ लेकर व्यौहार राजेन्द्र सिंह ने अथक प्रयास किये।

पढ़ें :- Punjab News: अगर कैप्टन अपने पद से देते हैं इस्तीफा तो कौन होगा पंजाब का अगला मुख्यमंत्री? जानिए...
Jai Ho India App Panchang

14 सितंबर 1949 को संविधान सभा ने एक मत से निर्णय लिया कि हिंदी भारत की राजभाषा होगी। प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने इस दिन के महत्व देखते हुए हर साल 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाए जाने का ऐलान किया था। पहला हिंदी दिवस 14 सितंबर 1953 को मनाया गया था।साल 1947 में जब भारत आजाद हुआ तो देश के सामने एक राजभाषा के चुनाव को लेकर सबसे बड़ा सवाल था।

भारत हमेशा से विविधताओं का देश रहा है, यहां सैकड़ों भाषाए और बोलियां बोली जाती है। राष्ट्रभाषा के रूप में किस भाषा को चुना जाए ये बड़ा प्रश्‍न था। काफी विचार के बाद हिंदी और अंग्रेजी को नए राष्ट्र की भाषा चुन लिया गया। संविधान सभा ने देवनागरी लिपी में लिखी हिन्दी को अंग्रजों के साथ राष्ट्र की आधिकारिक भाषा के तौर पर स्वीकार किया। राजभाषा के दर्ज में अंग्रेजी को हटाकर हिंदी को चुने जाने पर देश के कुछ हिस्सों में विरोध प्रर्दशन शुरू हो गया था। तमिलनाडु में जनवरी 1965 में भाषा विवाद को लेकर दंगे भी छिड़ गए थे।

साल 1918 में महात्मा गांधी ने हिंदी साहित्य सम्मेलन में हिन्दी भाषा को राष्ट्रभाषा बनाने को कहा था।वर्ष 1918 में गांधी जी ने हिन्दी साहित्य सम्मेलन में हिन्दी भाषा को राजभाषा बनाने को कहा था। गांधी जी ने ही हिंदी को जनमानस की भाषा भी कहा था।

पढ़ें :- Big Breaking: अभिनेता सोनू सूद और उनके सहयोगियों पर 20 करोड़ की टैक्स चोरी का आरोप, आयकर विभाग ने किया दावा
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...