इस HIV+ व्यक्ति ने 300 महिलाओं से बनाए असुरक्षित यौन संबंध

हैदराबाद। देश के संविधान में हत्या को जघन्य अपराध की श्रेणी में रखा गया है और इसके लिए कठोर दंड का प्रावधान है। लेकिन अगर कोई जानबूझ कर HIV+ (एड्स) जैसे जानलेवा बीमारी को समाज में फैलाये जो आप इसको किस श्रेणी में रखेंगे। यह सवाल मस्तिष्क में उस समय कूंधा जब हैदराबाद से एक ऐसा ही मामला सामने आया। दरअसल, चोरी के आरोप में गिरफ्तार किए गए एक व्यक्ति ने पुलिसिया पूछताछ में खुलासा किया है कि उसे एड्स है फिर भी उसने कम से कम 300 महिलाओं से असुरक्षित यौन संबंध बनाए हैं। उन महिलाओं में कई हाउस वाइफ भी शामिल हैं।

यह खबर हैदराबाद की है जहां आरोपी ऑटो रिक्शा चलाकर अपना जीवनयापन करता है। वह हैदराबाद के उपनगर माल्काजगिरि का रहने वाला है। आरोपी के एक दोस्त ने उसपर चोरी का आरोप लगाया था जिसके बाद पुलिस ने उसे पूछताछ के लिए थाने बुलाया था। पूछताछ में उसने अपने दोस्त के घर से पांच तोला सोना चुराने की बात स्वीकार कर ली। उसके पास से पांच तोला सोना बरामद कर लिया गया। पुलिस पूछताछ में उसने बताया कि उसके खिलाफ जुआ खेलने के भी मामले दर्ज हैं। 

पुलिसिया पूछताछ में आरोपी ने एक ऐसा खुलासा किया जिसको सुनकर पुलिस के भी होश फाक्ते हो गए। आरोपी ने बताया कि उसे कुछ महीने पहले पता चला कि वह एचआईवी पॉजीटिव है जिसके बाद भी अन्य महिलाओं के साथ शारीरिक संबंध बनाए। उसने बताया कि वह रोज वेश्‍याओं के पास जाता था। इसके अलावा उसके कई और महिलाओं से अवैध संबंध है। बीमारी के बारे में जानने के बावजूद उसने महिलाओं के साथ असुरक्षित यौन संबंध बनाए।               

उसने पुलिस को बताया कि बीमारी के बाद उसने कम से कम 300 महिलाओं से असुरक्षित संबंध बनाए, उसमें कई हाउस वाइफ भी थीं। वे महिलाएं जब उसके ऑटो से अपने बच्चों को स्कूल छोड़ने जाती थीं तब वह उन महिलाओं से संपर्क बना लेता था। आरोपी चालक को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।