हिजबुल मुजाहिदीन चीफ का बेटा शाहिद यूसुफ टेरर फंडिंग केस में अरेस्ट

नई दिल्ली। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने मंगलवार को हिजबुल मुजाहिदीन प्रमुख सैयद सलाहुद्दीन के बेटे सैयद शाहिद यूसुफ को जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवादी घटनाओं के वित्तपोषण के मामले में गिरफ्तार किया है। उसे साल 2011 के आतंकवाद फंडिंग केस के सिलसिले में दिल्ली से गिरफ्तार किया गया है।

सैयद शाहिद यूसुफ पर कश्मीर में जारी आतंकवाद में इस्तेमाल किए जाने के लिए सलाहुद्दीन के इशारे पर सीरिया से रकमें लेने का आरोप है। यह गिरफ्तारी ऐसे समय हुई है, जब एक दिन पहले ही सोमवार को गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने जम्मू एवं कश्मीर में वार्ता प्रक्रिया आगे बढ़ाने की घोषणा की थी और आईबी के पूर्व निदेशक दीनेश्वर शर्मा को राज्य में सभी साझेदारों से वार्ता के लिए प्रतिनिधि नियुक्त किया था।

{ यह भी पढ़ें:- पुलवामा में सेना की आतंकियों से मुठभेड़, तीन आतंकी ढेर, एक जवान शहीद }

एजेंसी के अधिकारियों के अनुसार, पूछताछ के दौरान खुलासा हुआ कि सीरिया में रह रहे एक आरोपी गुलाम मोहम्मद भट ने कथित रूप से सैयद सलाहुद्दीन के कहने पर वर्ष 2011 से 2014 के बीच यूसुफ को पैसे ट्रांसफर किए थे।

बता दें कि सलाउद्दीन आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन का चीफ है। भारत के खिलाफ लगातार जहर उगलने वाला सलाउद्दीन का संगठन हिज्बुल कश्मीर समेत पूरे देश में कई बार कायराना हमले करा चुका है। अप्रैल 2014 में जम्मू कश्मीर में हुए बम धमाकों की जिम्मेदारी भी सैयद सलाउद्दीन के आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन ने ही ली थी। इस हमले में 17 लोग घायल हुए थे।

{ यह भी पढ़ें:- नियंत्रण रेखा पर आतंकवादियों की घुसपैठ नाकाम, दो आतंकी ढेर }

Loading...