Holi 2020 Quotes: होली के मौके पर इन खूबसूरत कोट्स से अपनों को दें शुभकामनाएं

Holi 2020 Quotes: होली के मौके पर इन खूबसूरत कोट्स से अपनों को दें शुभकामनाएं
Holi 2020 Quotes: होली के मौके पर इन खूबसूरत कोट्स से अपनों को दें शुभकामनाएं

लखनऊ। रंगो के त्योहार होली में अब बस दो दिन ही रह गए हैं और ऐसे में अब लोगों ने अपनों को वॉट्सएप और फैसबुक के माध्यम से होली के विडियो, होली कोट्स, होली की शायरी और होली की शुभकामना संदेश भेजना शुरू कर दिया। ऐसे में यदि आप भी अपने रिश्तेदारों, दोस्तों और चाहने वालों को होली की शुभकामनाएं देना चाहते हैं तो देखें बेहतरीन कोट्स…..

Holi 2020 Wishes Quotes :

रंगों की आंखमिचौली,
खुशियों की आई टोली।
पकवानों की आई थैली,
अपनों के संग खेलो होली।

रंगों का दिन आया,
पिचकारियों को संग लाया।
पकवानों की शाम लाया,
अपनों को पास लाया।

आओ मनाये छोटी-छोटी खुशियाँ,
तभी हँसेगी साथ हमारे दुनियाँ।
रंगों के साथ बिखेरो ढेरो खुशियाँ,
तभी झूमेगी साथ हमारे दुनियाँ।

रंग बरसे भीगे चुनर वाली…रंग बरसे
ओ रंग बरसे भीगे चुनर वाली …रंग बरसे
अरे रंग बरसे भीगे चुनर वाली …रे
अब घर जाओ नहीं तो जुकाम हो जायेगा

कान्हा की पिचकारी और राधा की साड़ी,
खुशियों के रंग से, आओ रंगे दुनिया सारी
पकवानों के भीड़ और रंग-बिरंगी थाली,
मुबारक हो आपको यह होली हमारी

हमेशा मीठी रहे आपकी बोली
खुशियों से भर जाए आपकी झोली
आप सबको मेरी तरह से हैप्पी होली

जला दो सारी बुराइयाँ,
मिटा दो सारी गलत-फैमियाँ।
अपना लो सारी अच्छाईयाँ,
मुबारख हो होली की रंगीलियाँ।

बचपन के रंगों से सजी होली,
जवानी के उल्लास से भरी होली।
बुढ़ापे के तजुर्बे से भींगी होली,
फिर से खेलो यह रंग बिरंगी होली।

दिल में उमंग लिए, हाथों में रंग लिए ।
मन में खुशियाँ लिए, अपनों को संग लिए।
बुजुर्गो का आशीर्वाद लिए, बच्चों का प्यार लिए।
रंगों का खुमार लिए, होली का त्योहार लिए।

जब-जब होली आई,
साथ अपने खुशियाँ लाई।
रंगों की सौगात लाई,
अपनों का प्यार लाई।

लखनऊ। रंगो के त्योहार होली में अब बस दो दिन ही रह गए हैं और ऐसे में अब लोगों ने अपनों को वॉट्सएप और फैसबुक के माध्यम से होली के विडियो, होली कोट्स, होली की शायरी और होली की शुभकामना संदेश भेजना शुरू कर दिया। ऐसे में यदि आप भी अपने रिश्तेदारों, दोस्तों और चाहने वालों को होली की शुभकामनाएं देना चाहते हैं तो देखें बेहतरीन कोट्स..... रंगों की आंखमिचौली, खुशियों की आई टोली। पकवानों की आई थैली, अपनों के संग खेलो होली। रंगों का दिन आया, पिचकारियों को संग लाया। पकवानों की शाम लाया, अपनों को पास लाया। आओ मनाये छोटी-छोटी खुशियाँ, तभी हँसेगी साथ हमारे दुनियाँ। रंगों के साथ बिखेरो ढेरो खुशियाँ, तभी झूमेगी साथ हमारे दुनियाँ। रंग बरसे भीगे चुनर वाली…रंग बरसे ओ रंग बरसे भीगे चुनर वाली …रंग बरसे अरे रंग बरसे भीगे चुनर वाली …रे अब घर जाओ नहीं तो जुकाम हो जायेगा कान्हा की पिचकारी और राधा की साड़ी, खुशियों के रंग से, आओ रंगे दुनिया सारी पकवानों के भीड़ और रंग-बिरंगी थाली, मुबारक हो आपको यह होली हमारी हमेशा मीठी रहे आपकी बोली खुशियों से भर जाए आपकी झोली आप सबको मेरी तरह से हैप्पी होली जला दो सारी बुराइयाँ, मिटा दो सारी गलत-फैमियाँ। अपना लो सारी अच्छाईयाँ, मुबारख हो होली की रंगीलियाँ। बचपन के रंगों से सजी होली, जवानी के उल्लास से भरी होली। बुढ़ापे के तजुर्बे से भींगी होली, फिर से खेलो यह रंग बिरंगी होली। दिल में उमंग लिए, हाथों में रंग लिए । मन में खुशियाँ लिए, अपनों को संग लिए। बुजुर्गो का आशीर्वाद लिए, बच्चों का प्यार लिए। रंगों का खुमार लिए, होली का त्योहार लिए। जब-जब होली आई, साथ अपने खुशियाँ लाई। रंगों की सौगात लाई, अपनों का प्यार लाई।