1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. होमगार्ड घोटाला : अफसरों की मिलीभगत से चल रहा था खेल, फंसेंगे मुख्यालय के कई अधिकारी

होमगार्ड घोटाला : अफसरों की मिलीभगत से चल रहा था खेल, फंसेंगे मुख्यालय के कई अधिकारी

By शिव मौर्या 
Updated Date

लखनऊ। होमगार्डों के फर्जी मस्टर रोल को प्रमाणित करने से लेकर वेतन घोटाले में शामिल मुख्यालय के कई अधिकारियों की भूमिका उजागर हो रही है। इस घोटाले में गिरफ्तार लोगों ने पूछताछ में कई अहम राज उगले हैं, जिसके आधार पर मुख्यालय के कई अधिकारी भी रडार पर हैं। सूत्रों की माने तो पुख्ता सुबूत जुटाने के बाद पुलिस फर्जीवाड़े में शामिल मुख्यायल के अफसरों को भी गिरफ्तार करेगी।

घोटाले में शामिल लोगों ने पुलिस पूछताछ में बताया कि इस फर्जीवाड़े की जानकारी मुख्यालय के अधिकारियों को थी। इनके संरक्षण से ही विभाग में यह घोटाल लंबे समय से चल रहा था। लखनऊ व नोयडा पुलिस की जांच में सामने आया है कि ड्यूटी पर भेजे बिना ही मस्टर रोल में होमगार्ड की फर्जी हाजिरी लगाई जाती थी। गिरफ्तार कर्मियों ने बताया कि कई जिलों में एक ही होमगार्ड दो जगहों पर ड्यूटी दिखा फर्जी तरीके से दैनिक भत्ता ले रहे हैं।

सूत्रों के मुताबिक प्रारंभिक जांच में मुख्यालय के कई अफसरों की भूमिका उजागर हुई है, जिन पर गिरफ्तारी की तलवार लटकी हुई है। उधर, नोएडा पुलिस 2015 से 2019 के होमगार्ड हाजिरी घोटाले की जांच कर रही है। इसके तहत ड्यूटी रजिस्टर व अन्य रिकॉर्ड की जांच की जा रही है। जांच के दौरान सभी पुराने रजिस्टर व थानों के दस्तावेज की जांच होगी। ड्यूटी स्थल अधिकारी और होमगार्ड के हस्ताक्षर का मिलान कराया जाएगा। जांच पूरी होने के बाद बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आ सकता है।

दो महीने में 4 करोड़ का घोटाला
फर्जीवाड़ा उजागर होने पर नोएडा पुलिस ने वर्ष 2019 मई व जून में विभिन्न थानों में होमगार्डों के ड्यूटी की जांच की। जांच में सामने आया कि नोएडा में अकेले दो महीने के अंदर फर्जी हाजिरी लगाकर चार करोड़ रुपये का घोटाला किया गया। जिला पुलिस की तरफ से घोटाले में शामिल सात अधिकारियों के नाम भी शासन को दिए गए हैं।

होमगार्डों का एटीएम रखते थे अपने पास
जांच में यह भी खुलासा हुआ कि जिन होमगार्डों की फर्जी हा​जिरी लगाकर भुगतान कराया जाता था, उनका एटीएम कार्ड फर्जी भुगतान कराने वाले अधिकारी ही रखते थे। दैनिक भत्ता उनके खाते में जाते ही यह लोग एटीएम से यह रकम निकाल लेते थे। इन होमगार्डों को रकम का कुछ हिस्सा दे दिया जाता था।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...