धारा 370 समाप्ति के समाप्ति के समय को लेकर उठे सवाल पर गृहमंत्री अमित शाह ने दिया ये बड़ा बयान

amit shah on article 370
धारा 370 समाप्ति के समाप्ति के समय को लेकर उठे सवाल पर गृहमंत्री अमित शाह ने दिया ये बड़ा बयान

नई दिल्ली। जम्मू—कश्मीर से धारा 370 हटाने को लेकर मोदी सरकार ने एक ऐतिहासिक फैसला लिया है। इसको लेकर विरोध कर रही पार्टियां तरह—तरह के आरोप लगा रही है। इसमें सरकार पर एक आरोप ये भी लगाया गया कि क्या जम्मू—कश्मीर से धारा 370 हटाने का ये सही समय था, जिसका जवाब खुद गृहमंत्री अमित शाह ने दिया।

Home Minister Amit Shah Gave This Big Statement On The Question Regarding The Time Of Ending Of Article 370 :

इस आरोप का जवाब देते गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि राष्ट्रपति को अनुच्छेद 370 के उपबंध (3) के तहत अनुच्छेद 370 को खत्म करने का अधिकार है। अमित शाह ने कहा, ‘अच्छा रहता कि सारे सदस्य यह जान लेते कि हम किस पद्धति से, किस धारा के तहत हमने यह किया है।

अमित शाह ने सदन में अनुच्छेद 370 के खंड 3 का जिक्र करते हुए कहा कि देश के राष्ट्रपति महोदय को धारा 370(3) के अंतर्गत पब्लिक नोटिफिकेशन से अनुच्छेद 370 को सीज करने का अधिकार है। आज सुबह राष्ट्रपति महोदय ने एक अधिसूचना जारी की है, जिसमें उन्होने कहा कि जम्मू-कश्मीर की संविधान सभा का मतलब जम्मू और कश्मीर की विधानसभा है। चूंकि संविधान सभा तो अब है ही नहीं, वह समाप्त हो चुकी है। इसलिए, संविधान सभा के अधिकार जम्मू-कश्मीर विधानसभा में निहित होते हैं। चूंकि वहां राज्यपाल शासन है, इसलिए जम्मू-कश्मीर विधानसभा के सारे अधिकार संसद के दोनों सदन के अंदर निहित है। राष्ट्रपति के इस आदेश को साधारण बहुमत से पारित कर सकते हैं।

नई दिल्ली। जम्मू—कश्मीर से धारा 370 हटाने को लेकर मोदी सरकार ने एक ऐतिहासिक फैसला लिया है। इसको लेकर विरोध कर रही पार्टियां तरह—तरह के आरोप लगा रही है। इसमें सरकार पर एक आरोप ये भी लगाया गया कि क्या जम्मू—कश्मीर से धारा 370 हटाने का ये सही समय था, जिसका जवाब खुद गृहमंत्री अमित शाह ने दिया। इस आरोप का जवाब देते गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि राष्ट्रपति को अनुच्छेद 370 के उपबंध (3) के तहत अनुच्छेद 370 को खत्म करने का अधिकार है। अमित शाह ने कहा, 'अच्छा रहता कि सारे सदस्य यह जान लेते कि हम किस पद्धति से, किस धारा के तहत हमने यह किया है। अमित शाह ने सदन में अनुच्छेद 370 के खंड 3 का जिक्र करते हुए कहा कि देश के राष्ट्रपति महोदय को धारा 370(3) के अंतर्गत पब्लिक नोटिफिकेशन से अनुच्छेद 370 को सीज करने का अधिकार है। आज सुबह राष्ट्रपति महोदय ने एक अधिसूचना जारी की है, जिसमें उन्होने कहा कि जम्मू-कश्मीर की संविधान सभा का मतलब जम्मू और कश्मीर की विधानसभा है। चूंकि संविधान सभा तो अब है ही नहीं, वह समाप्त हो चुकी है। इसलिए, संविधान सभा के अधिकार जम्मू-कश्मीर विधानसभा में निहित होते हैं। चूंकि वहां राज्यपाल शासन है, इसलिए जम्मू-कश्मीर विधानसभा के सारे अधिकार संसद के दोनों सदन के अंदर निहित है। राष्ट्रपति के इस आदेश को साधारण बहुमत से पारित कर सकते हैं।